Logo
ब्रेकिंग
शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता मुख्यमंत्री ने ललित भवन में स्व० ललित नारायण मिश्र जी की प्रतिमा का किया अनावरण मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव मुख्यमंत्री ने लोहिया पथ चक्र के निर्माण कार्य की प्रगति का किया निरीक्षण आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार... ठोस क्रियान्वयन के लिए निरंतर सत्यापन किया जाए : राज्यपाल पटेल मध्य प्रदेश में कलेक्टर-कमिश्नर कान्फ्रेंस शुरू, सीएम शिवराज कर रहे अधिकारियों से बात

TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन मौजूदा संसद सत्र से निलंबत, जानें क्या है पूरा मामला?

तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन को मौजूदा सत्र के लिए संस्पेंड कर दिया गया है। डेरेक ओ ब्रायन ने सभापति की ओर रूल बुक फेंकी थी, जिसके बाद उपसभापति हरिवंश ने उन्हें मौजूदा सत्र से सस्पेंड कर दिया है। इससे पहले सत्र की शुरूआत से ही 12 सांसद निलंबित चल रहे हैं।

क्या था पूरा मामला
राज्यसभा में मतदाता पहचान पत्र के आधार कार्ड से जोड़ने से संबंधित निर्वाचन विधि (संशोधन) विधयेक 2021 पारित कराने के दौरान कांग्रेस समेत संपूर्ण विपक्ष ने जमकर हंगामा किया और तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन ने महासचिव की टेबल पर रुल ‘बुक फेंक’ दी थी। दरअसल, सदन के बीच में हंगामे के दौरान ही मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के जॉन ब्रिट्स ने विधेयक में दिये गये संशोधनों को लेकर मत विभाजन की मांग की तो उप सभापति हरिवंश ने कहा कि नियम के तहत सभी सदस्यों को अपने स्थानों पर लौट जाना चाहिए इसके बाद ही उनकी मांग पूरी हो सकती है।

बिट्स ने कहा कि सदन में व्यवस्था बनाना सभापति की जिम्मेदारी है और उन्हें इस विधेयक पर मत विभाजन चाहिए। उनकी इस मांग का समर्थन विपक्ष में सदन के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी किया और कहा कि सभापति को पहले मत विभाजन बोलना चाहिए। इसके बाद सभी सदस्य अपने स्थानों पर लौट जाएगें। लेकिन हरिवंश ने कहा कि विपक्षी सदस्य मत विभाजन नहीं चाहते हैं और उन्होंने सदन की कार्यवाही आगे बढ़ा दी। इसका विरोध करते हुए कांर्ग्रेस समेत समस्त विपक्ष सदन की कार्यवाही का बॉयकाट करते हुए सदन से बाहर चला गया लेकिन तृणमूल कांग्रेस के सदस्य और बिट्स सदन में रहे और शोरशराबा करते रहे।

इसके बाद ब्रायन ने व्यवस्था का प्रश्न उठाते हुए कहा कि सदन में सदस्य मत विभाजन की मांग कर रहे और उनकी मांग नहीं सुनी जा रही है। हरिवंश ने कहा कि उनकी का मांग निवारण हो चुका है और उन्हें बोलने की अनुमति नहीं है। इससे उत्तेजित ब्रायन ने ‘रुल बुक’ महासचिव की टेबल की ओर फेंकी और गुस्से से बाहर चले गये। ब्रायन के इस व्यवहार को लेकर सदन में सिहरन सी दौड़ गई। इसके बाद भारतीय जनता पार्टी के भूपेंद्र यादव ने व्यवस्था का प्रश्न उठाते हुए  ब्रायन के व्यवहार पर आपत्ति जतायी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.