Logo
ब्रेकिंग
कर्तव्य पथ पर पहली बार मार्च पास्ट करेगी मिस्र सेना की टुकड़ी, परेड में दिखेगा बहुत कुछ नया भारतीय शेयर बाजार विदेशी निवशकों को लगा महंगा रिपब्लिक डे पर एयर इंडिया ने फ्लाइट्स टिकट पर दिया ऑफर छिंदवाड़ा में हिंदूवादी संगठनों ने पठान फिल्म के पोस्टर फाड़े कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय के बयान पर रविशंकर प्रसाद का फूटा गुस्सा मध्य प्रदेश के राज्यपाल भोपाल में और सीएम शिवराज जबलपुर में करेंगे ध्वजारोहण आप-भाजपा पार्षदों के हंगामे के बीच फिर टला मेयर चुनाव, सदन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित मुंबई: देशभक्ति से भरपूर फिल्म है 'पठान' फर्स्ट शो के बाद 300 शो बढ़ाए गए, अब तक की सबसे बड़ी रिलीज ... इंदौर में हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं पर FIR, पठान मूवी के विरोध में मुस्लिम संगठनों पर आपत्तिजनक ना... अब छिंदवाड़ा में पठान का विरोध, राष्ट्रीय हिंदू सेना ने किया पुतला दहन..जमकर की नारेबाजी

ब्राह्मणों पर विवादित बयान देकर सुर्खियों में आए मांझी, NDA के कोर वोटरों पर हमला करने के पीछे है ये वजह

पटनाः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के अनाप-शनाप बयानों के पीछे परिवार मोह दिखाई दे रहा है। दरअसल, एनडीए के कोर वोटरों पर हमला करके पूर्व सीएम बदले में 3 एमएलसी की टिकट लेना चाहते हैं।

जीतनराम मांझी ने 2018 में लालू यादव से साठगांठ कर अपने पुत्र को हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) की तरफ से उम्मीदवार बनाकर राजद विधायकों के वोट से एमएलसी बना दिया था। अब एक बार फिर जब बिहार में 24 एमएलसी के सीटों के लिए चुनाव होना है, तो वह इस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं ताकि उन्हें एनडीए की तरफ से कम से कम 3 एमएलसी की सीटें मिल सकें।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री अपने बयानों से एनडीए के कोर वोटर ब्राह्मण समाज पर हमला करके अपनी राजनीतिक मंशा पूरी करना चाहते हैं। बिहार में भूमिहार ब्राह्मण 6% और ब्राह्मण 5.5 प्रतिशत है। दोनों को मिला दिया जाए तो कुल आबादी 11.5 फीसदी है। मांझी के इस बयान से दोनों समुदायों के लोग दुखी हैं।

बता दें कि बिहार विधान सभा में एनडीए के पास 127 विधायक हैं। इनमें जदयू के पास 45 एमएलए हैं। एक निर्दलीय का समर्थन है। कुल 46 विधायक हैं। भाजपा के पास कुल 74 विधायक हैं। इसके अतिरिक्त 4 विधायक हम के हैं और 3 वीआईपी के विधायक हैं, जिनमें से एक का निधन हो चुका है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.