Logo
ब्रेकिंग
कर्तव्य पथ पर पहली बार मार्च पास्ट करेगी मिस्र सेना की टुकड़ी, परेड में दिखेगा बहुत कुछ नया भारतीय शेयर बाजार विदेशी निवशकों को लगा महंगा रिपब्लिक डे पर एयर इंडिया ने फ्लाइट्स टिकट पर दिया ऑफर छिंदवाड़ा में हिंदूवादी संगठनों ने पठान फिल्म के पोस्टर फाड़े कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय के बयान पर रविशंकर प्रसाद का फूटा गुस्सा मध्य प्रदेश के राज्यपाल भोपाल में और सीएम शिवराज जबलपुर में करेंगे ध्वजारोहण आप-भाजपा पार्षदों के हंगामे के बीच फिर टला मेयर चुनाव, सदन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित मुंबई: देशभक्ति से भरपूर फिल्म है 'पठान' फर्स्ट शो के बाद 300 शो बढ़ाए गए, अब तक की सबसे बड़ी रिलीज ... इंदौर में हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं पर FIR, पठान मूवी के विरोध में मुस्लिम संगठनों पर आपत्तिजनक ना... अब छिंदवाड़ा में पठान का विरोध, राष्ट्रीय हिंदू सेना ने किया पुतला दहन..जमकर की नारेबाजी

पीएम मोदी ने दी नववर्ष की शुभकामनाएं, कहा- बिना वक्‍त गंवाएं देश के विकास में दें अपना योगदान

नइ दिल्‍ली। पीएम मोदी आज मन की बात की 84वीं कड़ी में देशवासियों से रूबरू हो रहे हैं। ये इस वर्ष मन की बात की आखिरी कड़ी है। मन की बात में उन्‍होंने ग्रुप कैप्‍टर वरुण सिंह का जिक्र किया। उनका निधन इसी माह कन्‍नूर में हुए हेलीकाप्‍टर हादसे के बाद अस्‍पताल में जिंदगी और मौत के बीच चली जंग के बाद हो गया था। इसी हादसे में देश ने पहले सीडीसी जनरल बिपिन रावत को खोया था। अपने संबोधन में उन्‍होंने वरुण सिंह के उस पत्र का भी जिक्र किया जिसमें उन्‍होंने अपनी कमजोरी और नाकामी का जिक्र करते हुए आने वाली पीढ़ी को आगे बढ़ने और हार न मानने का जिक्र किया था।

विदेशी छात्रों ने गाया वंदे मातरम

पीएम मोदी ने इस मौके पर क्रिस के एक इंडियन स्‍कूल में पढ़ने वाले विदेशी छात्राओं द्वारा गाए गए वंदे मातरम का वीडियो भी दिखाया। उन्‍होंने कहा कि ये वीडियो देशवासियों को एक सुकून भी देता है। इसे सुनकर देखकर सभी को खुशी का अनुभव होता है। इस दौरान उन्‍होंने नीलेश का भी जिक्र किया जिन्‍होंने लखनऊ में हुए ड्रोन शो की प्रशंसा की थी।

दो लाख पुस्‍तकों वाली लाइब्रेरी

उन्‍होंंने तेलंगाना के डाक्‍टर विठलाचारी का भी जिक्र किया। उन्‍होंने बड़ी लाइब्रेरी खोली। ये उनका बचपन का सपना था। आज इस लाइब्रेरी में दो लाख पुस्‍तक मौजूद हैं। उन्‍होंने अपनी सारी जमापूंजी इस लाइब्रेरी में लगा दी है। प्रधानमंत्री ने अपने इस संबोधन में बुक रीडिंग पर दिया। उन्‍होंने देशवासियों से अपील की कि वो अपनी पांच किताबों के बारे में उन्‍हें बताएं।

महाभारत से जुड़ा कोर्स

पौड़ी के चेलूसूण में महाभारत से रूबरू कराने के लिए कोर्स शुरू। इसको अच्‍छा रेस्‍पांस मिल रहा है। आज दुनिया भारत को जानना चाहती है। इस दौरान उन्‍होंने सर्गी के एक व्‍यक्ति डाक्‍टर निकीज का जिक्र किया जिन्‍होंने सर्गी लैंग्‍वेज से संस्‍कृत भाषा की डिक्‍शनरी की है। उन्‍होंने 70 वर्ष की आयु के बाद संस्‍कृत सीखी। इस दौरान उन्‍होंने मंगोलियन स्‍कोलर का भी जिक्र किया।

प्राचील कला को संजोने का काम

गोवा के सागरमूले का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि एक छोटी सी कोशिश भी काफी अहम होती है। सागरमूले ने गोवा की प्राचील कला को संजोने का काम किया है। इस कला को लाल मिट्टी से बनाया जाता था। अरुणाचल में साल भर से एयरगन सरेंडर अभियान चलाया जा रहा है। ऐसा इसलिए किया गया है जिससे यहां पर पक्षियों का शिकार बंद किया जा सके। अरुणाचल प्रदेश में 500 से अधिक पक्षियों की प्रजातियां रहती हैं जिनमें कुछ दुर्लभ भी हैं। इस अभियान के जरिए अब तक 1600 से अधिक एयरगन सरेंडर की जा चुकी हैं।

सफाई अभियान का जिक्र

एनसीसी कैडेट का सफाई अभियान का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि इसमें सैकड़ों कैडेट लगे हैं जो कचरे का न सिर्फ हटाते हैं बल्कि उसका रीसाइकिल करते हैं। इस दौरान उन्‍होंने कुछ युवाओं द्वारा शुरू किए गए स्‍टार्टअप प्रोग्राम साफवाटर का भी जिक्र किया गया। उन्‍होंने कहा कि जबसे देश में डिजिटाइजेशन हुआ है तब से जंकयार्ड खत्‍म होते जा रहे हैं। इनका उपयोग दूसरी सुविधाओं के लिए किया जा रहा है। अंत में उन्‍होंने देशवासियों को नववर्ष की शुभकामनाएं भी दी।

2014 में पहली बार शुरू हुई थी मन की बात

बता दें कि 3 अक्‍टूबर 2014 को पहली बार आल इंडिया रेडियो से मन की बात कार्यक्रम का प्रसारण किया गया था। तब से लेकर आज तक हर माह प्रधानमंत्री इस संबोधन के जरिए देशवासियों से उनके विचार जानते हैं और अपनी बात सभी के सामने रखते आए हैं। मन की बात के जरिए पीएम मोदी उन लोगों को देशवासियों के सामने लाते रहे हैं जो अब तक पर्दे के पीछे अंजान बने रहे हैं। आज भी पीएम मोदी ने ऐसा ही किया।

महामारी के समय में संबोधन

आज उनका ये संबोधन ऐसे समय में हो रहा है जब देश और विश्‍व एक बार फिर से कोरोना महामारी और उसके नए खतरे ओमिक्रोन वैरिएंट से दहशत में है। ब्रिटेन, फ्रांस में कोरोना के एक लाख से अधिक मामले सामने आए हैं तो वहीं अमेरिका में दो लाख से अधिक मामले दर्ज किए जा रहे हैं। दिसंबर 2019 में जिस महमारी की शुरुआत चीन के वुहान से शुरू हुई थी उससे आज भी दुनिया लड़ती दिखाई दे रही है

सचेत और सावधान रहने की अपील

पीएम मोदी अपने हर संबोधन में देशवासियों को कोरोना महामारी के प्रति सचेत रहने की अपील करते आए हैं। शनिवार को भी उन्‍होंने देश के नाम जो अपना संबोधन दिया था उसमें भी उन्‍होंने देशवासियों से मास्‍क का उपयोग करने, भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचने, एक दूसरे से दूरी बनाए रखने और जल्‍द से जल्‍द वैक्‍सीन की दोनों खुराक लेने की अपील की थी। इस बार भी मन की बात में उन्‍होंने इस अपील को दोहराया।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.