Logo
ब्रेकिंग
‘मूड ऑफ दि नेशन सर्वे’ में बजा CM योगी का डंका, 39.1 फीसदी लोगों ने माना बेस्ट परफॉर्मिंग चीफ मिनिस्... पति घर पहुंचा तो फांसी के फंदे पर लटकती मिली पत्नी सरसों के खेत में मिला था किशोरी का शव, पुलिस अभी भी खाली हाथ असम सरकार बोडोलैंड प्रादेशिक क्षेत्र का करेगी विस्तार PM Modi राजस्थान का करेंगे चौथा दौरा बाइडेन प्रशासन का दावा- अमेरिका के लिए भारत महत्वपूर्ण साझेदार गोवा में बिना इजाजत पर्यटकों के साथ नहीं ले पाएंगे सेल्फी? बाइडेन प्रशासन का दावा- अमेरिका के लिए भारत महत्वपूर्ण साझेदार बड़वानी जिले में हादसा, वाहन को धक्‍का लगा रहे लोगों को ट्रक ने रौंदा, तीन लोगों की मौत पठान फ़िल्म के विरोध के दौरान आपत्तिजनक नारेबाजी करने वाले हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं को भेजा जेल

Bulli Bai App: मुस्लिम महिलाओं के अपमान पर छिड़ा घमासान, आखिर क्या है ‘Bulli Bai’ विवाद?

Bulli Bai नाम का एक ऐप ने सोशल मीडिया पर भूचाल मचाकर रख दिया है। हैश टैग बुल्ली बाई (#BulliBai) के नाम से इस ऐप पर मुस्लिम महिलाओं को टारगेट किया जा रहा है और उनके बारे में गंदी-गंदी बातें लिखी जा रही है। बुल्ली बाई ऐप ने मुस्लिम महिलाओं को काफी निराश कर दिया है। ऐसे में आखिर ये सवाल उठता है कि आखिर ये सुल्ली डील्स और बुल्ली बाई है क्या?

क्या है बुल्ली Bai Bai?
जब कोई यूजर Bulli Bai खोलता है, तो यह आपको एक मुस्लिम महिला के चेहरे को पेश करता है, फिर यूजर इसे Bulli Bai of the day के रूप में प्रदर्शित करता है। ऐप पर फिर इस तस्वीर पर भद्दे कमेंट के साथ इसकी बोली लगाई जाती है। फिर इसे हैशटैग #BulliBai के साथ दिन भर ट्रेंड किया जाता है। इस बार Bulli Bai ऐप पर ट्विटर और फेसबुक पर दमदार मौजूदगी रखने वाली 100 महिलाओं को टारगेट किया जा रहा है। मीडिया समेत दूसरे फील्ड की महिलाओं ने कहा है कि इस घटिया प्लेटफॉर्म पर उनके नाम और फोटो का इस्तेमाल किया जा रहा है।

सुल्ली डील क्या है?
सुल्ली महिलाओं के खिलाफ इस्तेमाल किया जाने वाला अपमानजनक शब्द है। चार जुलाई, 2021 को ट्विटर पर सुल्ली डील्स के नाम से कई स्क्रीनशॉट साझा किए गए थे। इस एप में एक टैग लाइन लगी थी, ‘सुल्ली डील ऑफ द डे’ और इसे मुस्लिम महिलाओं की फोटो के साथ शेयर किया जा रहा था। इसे गिटहब पर एक अज्ञात समूह द्वारा बनाया गया था।

कब सामने आया मामला
Bulli Bai पर मुस्लिम महिलाओं के मानसिक उत्पीड़न का मामला तब सामने आया जब एक महिला पत्रकार ने ट्विटर पर अपनी आपबीती साझा की। इस ऐप को डेवलेप करने वाले लोगों ने इस महिला पत्रकार की फोटो Bulli Bai ऐप पर शेयर कर दी है, और इस पत्रकार के लिए लोग sexist और misogynist कमेंट लिख रहे हैं। इस महिला पत्रकार ने अपनी व्यथा सोशल मीडिया पर शेयर की, “यह बहुत दुख की बात है कि एक मुस्लिम महिला के रूप में आपको अपने नए साल की शुरुआत इस डर और घृणा के साथ करनी पड़ रही है। बेशक यह बिना कहे ही समझा जाना चाहिए कि sulli deals के इस नए संस्करण में सिर्फ मुझे ही निशाना नहीं बनाया गया है।”

दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज 
महिला पत्रकार ने अपनी फोटो पब्लिक होने के बाद दिल्ली पुलिस की साइबर सेल शाखा में इसके शिकायत दर्ज कराई और इसे एफआईआर में बदलने की मांग की है। महिला की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने जवाब देते हुए कहा कि पुलिस ने इसका संज्ञान ले लिया है और अधिकारियों को कार्रवाई का निर्देश दिया गया है।
PunjabKesari
IT मंत्री वैष्णव की सफाई
केंद्रीय मंत्री  (संचार, इलेक्‍ट्रानिक्‍स एवं सूचना प्रौद्योगिकी और रेल मंत्री) अश्विनी वैष्णव ने ट्वीट कर बताया कि,  ‘GitHub ने आज सुबह इसके यूजर को ब्लॉक करने की पुष्टि की है।  Computer Emergency Response Team और पुलिस इस बारे में आगे की कार्रवाई कर रहे हैं।’ बता दें कि, Bulli Bai ऐप को किसने बनाया है ये जानकारी अबतक नहीं मिल पाई है। लेकिन महिला पत्रकार ने जो स्क्रीनशॉट शेयर की है उसका URL  bullibai.github.io है। अब ये URL डीएक्टिवेट हो गया है।

दोषियों को जल्द पकड़े पुलिस- शिवसेना सांसद
शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि होस्टिंग प्लेटफॉर्म गिटहब का इस्तेमाल करते हुए सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें एक एप पर अपलोड की गई हैं। इस मुद्दे को उन्होंने मुंबई पुलिस के सामने उठाया और मांग की है कि दोषियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.