Logo
ब्रेकिंग
चीकू की खेती से होगी 5 लाख रुपये तक की कमाई केजरीवाल ने कांग्रेस को हराने के लिए शराब घोटाला किया : अजय माकन बीएमसी बजट 2023-24 - मुंबई के इन पांच जगहो पर लगेंगे एयर प्यूरीफायर ! उद्योग में तकनीकी उन्नयन के लिए एनर्जी बॉन्ड जारी करने पर विचार कर रहा पाकिस्तान मा0 अध्यक्ष जिला पंचायत ने महामाया राजकीय महाविद्यालय भिट्टी में ’’वार्षिक क्रीडा प्रतियोगिता’’ का क... भोपाल-इंदौर में लोकसभा चुनाव से पहले दौड़ेगी भोपाल मेट्रो  छावला गैंगरेप मामले में बरी हुआ शख्स और उसका दोस्त हत्या के आरोप में गिरफ्तार व्यक्ति को जमीन पर गिराकर मारने का VIDEO....दो दिन पूर्व का बताया जा रहा, शराब के नशे में था पीड़ित जल्द शुरू होने वाला है दीघा रेलवे स्टेशन, सेंट्रल रेलवे ने पूरी की तैयारी हिंदुओं के हाथ से अगरबत्ती छुड़ाकर मोमबत्ती थमाने के चल रहे प्रयास

खंडवा में नशे में महिला वनरक्षक ने मचाया हंगामा

खंडवा। बैंक आफ इंडिया की सिविल लाइन ब्रांच में महिला नशे में धुत महिला वनरक्षक ने जमकर हंगामा किया। आरक्षक इस कदर नशे में थी कि खाते में रुपये नहीं होने का कहने पर वह बैंक कैशियर के साथ भीड़ गई। आरक्षक को आपे से बाहर होता देख बैंक केशियर ने कोतवाली पुलिस को फोन कर बुला लिया। पुलिस ने आरक्षक का मेडिकल कराया है। इसके बाद उसे थाने से छोड़ दिया गया।

यह महिला आरक्षक खंडवा रेंज में पदस्थ वनरक्षक फ्रांसिस है। जो नववर्ष के पहले दिन ही शनिवार को शराब पीने के बाद इस कदर मदहोश थी कि अपना आपा ही खो दिया। नशे में धुत होकर वह दोपहर में बैंक पहुंची। कैशियर को पास बुक देते हुए कहा कि रुपये निकालकर दे। जब केशियर ने खाता चेक किया तो उसमें 1 भी रुपये नही थे। कैशियर ने महिला वन आरक्षक से कहा कि खाते में 0 बैंलेंस है तो वह भड़क गई। वह बैंककर्मियों को गालियां देने लग गई। करीब आधे घंटे तक हंगामा चला। हंगामा बढ़ता देख बैंक केशियर ने कोतवाली पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस उसे थाने लेकर आई।

कोतवाली थाने से आई दो महिला आरक्षक महिला वनकर्मी को मेडिकल कराने जिला अस्पताल ले आई थी। यहां भी महिला वनकर्मी का हंगामा कम नहीं हुआ उसने वहां मौजूद लोगों से गुटखा मांगा। डाक्टर से कहा कि मेडिकल से क्या होगा इतनी शराब तो वह रोज पीती है। अस्पताल से महिला आरक्षक को कोतवाली थाने लाया गया। कोतवाली थाना प्रभारी बलजीत सिंह बिसेन ने बताया कि महिला वन आरक्षक के सबन्ध में वन विभाग को पत्र लिखकर जानकरी दी है। इस मामले में अभी तक बैंक के तरफ प्रकरण दर्ज कराने के लिए कोई नहीं आया है। कोई शिकायत करता है तो कार्रवाई की जाएगी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.