Logo
ब्रेकिंग
बाइडेन प्रशासन का दावा- अमेरिका के लिए भारत महत्वपूर्ण साझेदार गोवा में बिना इजाजत पर्यटकों के साथ नहीं ले पाएंगे सेल्फी? बाइडेन प्रशासन का दावा- अमेरिका के लिए भारत महत्वपूर्ण साझेदार बड़वानी जिले में हादसा, वाहन को धक्‍का लगा रहे लोगों को ट्रक ने रौंदा, तीन लोगों की मौत पठान फ़िल्म के विरोध के दौरान आपत्तिजनक नारेबाजी करने वाले हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं को भेजा जेल मासूम बच्चों और पत्नी की हत्या के आरोपित पति व दोस्त को भेजा जेल 'भारत जोड़ो यात्रा' में शामिल हुईं PDP चीफ महबूबा मुफ्ती, हाफ जैकेट व टोपी पहने दिखे राहुल गांधी भोपाल के दीपेश और रितिका ने पूछा प्रधानमंत्री से सवाल, मिला यह जवाब बंद पड़ी खदान में गैस रिसाव से चार लोगों की मौत, कबाड़ चोरी करने घुसे थे पर्यावास भवन में तीसरी मंजिल पर खाद्य विभाग के दफ्तर में भड़की आग, फर्नीचर, दस्‍तावेज, कंप्‍यूटर जलक...

लालू के आमंत्रण के बावजूद राजद से गठबंधन नहीं करेंगे चिराग, विधान परिषद चुनाव पर यह है रणनीति

पटना। लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान (MP Chirag Paswan) का भाजपा (BJP) से अभी पूरी तरह मोहभंग नहीं हुआ है। इसीलिए लालू प्रसाद (Lalu Prasad) के आमंत्रण के बावजूद बिहार विधान परिषद चुनाव (MLC Election in Bihar) में महागठबंधन के साथ तालमेल का कोई फैसला नहीं करने जा रहे हैं। निकाय कोटे से बिहार में 24 सीटों पर चुनाव होने जा रहा है। लोजपा (रामविलास) किसी दल से गठबंधन नहीं करेगी। विधानसभा की तर्ज पर लोजपा के टिकट पर जो भी उम्मीदवार निकाय चुनाव लड़ना चाहेगा, उसे लड़ने की छूट होगी।

राजद के साथ गठबंधन के थे कयास  

उम्मीद की जा रही थी कि निकाय चुनाव में लोजपा का राजद (RJD) के साथ गठबंधन हो सकता है। चिराग पासवान का मानना है कि निकाय चुनाव की हार-जीत से नीतीश सरकार पर कुछ फर्क नहीं पड़ने जा रहा। इसलिए चिराग की नजर 2024 के लोकसभा और 2025 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों पर है। पार्टी के प्रधान महासचिव संजय पासवान ने बताया कि हमारे नेता चिराग पासवान अभी गठबंधन को लेकर ज्यादा उत्सुक नहीं हैं। आने वाले लोकसभा चुनाव के वक्त ही गठबंधन पर चिराग पासवान उचित फैसला लेंगे। किस दल से गठबंधन होगा, यह उस समय की राजनीतिक परिस्थिति पर भी बहुत कुछ निर्भर करेगा।

यूपी विधानसभा चुनाव भी अकेले लड़ेगी चिराग की पार्टी  

मालूम हो कि भाजपा के प्रति चिराग का साफ्ट कार्नर अब भी बना हुआ है। यही कारण है कि कई मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी की प्रशंसा कर चुके हैं। खुद को पीएम का हनुमान बताने वाले चिराग पासवान हालांकि उत्‍तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में अकेले लड़ने का ऐलान कर चुके हैं। उनकी पार्टी वहां भी किसी दल से गठबंधन नहीं करेगी। कुल मिलाकर देखा जाए तो फिलहाल चिराग एकला चलो की नीति पर काम कर रहे हैं। उनकी नजरें आने वाले विस और लोस चुनावों पर है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.