Logo
ब्रेकिंग
चीकू की खेती से होगी 5 लाख रुपये तक की कमाई केजरीवाल ने कांग्रेस को हराने के लिए शराब घोटाला किया : अजय माकन बीएमसी बजट 2023-24 - मुंबई के इन पांच जगहो पर लगेंगे एयर प्यूरीफायर ! उद्योग में तकनीकी उन्नयन के लिए एनर्जी बॉन्ड जारी करने पर विचार कर रहा पाकिस्तान मा0 अध्यक्ष जिला पंचायत ने महामाया राजकीय महाविद्यालय भिट्टी में ’’वार्षिक क्रीडा प्रतियोगिता’’ का क... भोपाल-इंदौर में लोकसभा चुनाव से पहले दौड़ेगी भोपाल मेट्रो  छावला गैंगरेप मामले में बरी हुआ शख्स और उसका दोस्त हत्या के आरोप में गिरफ्तार व्यक्ति को जमीन पर गिराकर मारने का VIDEO....दो दिन पूर्व का बताया जा रहा, शराब के नशे में था पीड़ित जल्द शुरू होने वाला है दीघा रेलवे स्टेशन, सेंट्रल रेलवे ने पूरी की तैयारी हिंदुओं के हाथ से अगरबत्ती छुड़ाकर मोमबत्ती थमाने के चल रहे प्रयास

कोवैक्स के जरिए डिलीवर हुआ वैक्सीन का एक बिलियन डोज, WHO ने ट्वीट कर दी जानकारी

नई दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization, WHO) ने  कोवैक्स (COVAX) के जरिए कोरोना वैक्सीन के एक बिलियन डोज की डिलीवरी की जानकारी दी। WHO ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के जरिए ट्वीट कर कहा, ‘अभी अभी कोरोना वैक्सीन के एक बिलियन डोज की डिलीवरी की गई है। इसके लिए हम अपने सभी पार्टनरों के प्रति आभार व्यक्त करते हैं जिनके सहयोग से यह कार्य सफल हो रहा है। हालांकि अभी और काम बाकी है हमें इसके लिए तेजी से काम करना होगा ताकि 2022 के मध्य तक सभी देशों में 70 फीसद लोगों को वैक्सीन लग सके।

गरीब देशों को वैक्सीन की सप्लाई काफी समय तक सीमित रही क्योंकि पर्याप्त स्टाक नहीं था। दरअसल धनी देशों ने दिसंबर 2020 से ही वैक्सीन के अधिकतर डोज की खेप खरीद ली थी। COVAX को 2020 में लान्च किया गया। इसका लक्ष्य 2021 के अंत तक विभिन्न देशों को कोरोना वैक्सीन के दो बिलियन डोज की डिलीवरी करना था। लेकिन शुरुआत में निर्यात संबंधित नियमों समेत कई कारणों से यह धीमा पड़ गया था। इस कार्यक्रम के तहत फरवरी 2021 में वैक्सीन डोज को डिलीवर करना शुरू हुआ। इसमें एक तिहाई धनी देशों का योगदान था।

बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से कहा गया है कि कोरोना वायरस के  नए वैरिएंट ओमिक्रोन से उत्पनन जोखिम अभी भी बहुत अधिक है।  अभी तक मिले प्रमाण बताते हैं कि ओमिक्रोन  के मामले  डेल्टा वेरिएंट से ज्यादा तेजी से फैल रहे हैं। इसके केस 2-3 दिन में दोगुने हो जा रहे हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.