Logo
ब्रेकिंग
शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता मुख्यमंत्री ने ललित भवन में स्व० ललित नारायण मिश्र जी की प्रतिमा का किया अनावरण मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव मुख्यमंत्री ने लोहिया पथ चक्र के निर्माण कार्य की प्रगति का किया निरीक्षण आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार... ठोस क्रियान्वयन के लिए निरंतर सत्यापन किया जाए : राज्यपाल पटेल मध्य प्रदेश में कलेक्टर-कमिश्नर कान्फ्रेंस शुरू, सीएम शिवराज कर रहे अधिकारियों से बात

परमबीर सिंह और वाजे के बीच हुई गुप्त बैठक! मुंबई पुलिस के 4 कर्मियों को कारण बताओ नोटस जारी

नवी मुंबई पुलिस ने मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह और पिछले साल नवंबर में पुलिस बल से बर्खास्त अधिकारी सचिन वाजे के बीच हुई कथित ‘गुप्त’ बैठक के मामले में चार पुलिस कर्मियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। आरोप है कि परमबीर सिंह और वाजे की दक्षिण मुंबई में न्यायमूर्ति चांदीवाल (अवकाश प्राप्त) आयोग के कक्ष के बगल में मौजूद कमरे में कथित बैठक हुई थी।

एक सदस्यी आयोग मुंबई पुलिस के आयुक्त पद से हटाए जाने के बाद परमबीर सिंह द्वारा राज्य के तत्कालीन गृमंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गए कथित भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रहा है। आरोप के मुताबिक दक्षिण मुंबई स्थित आयोग के समक्ष सुनवाई के लिए वाजे को नवी मुंबई पुलिस की स्थानीय सशस्त्र इकाई के चार जवान अपनी सुरक्षा में तलोजा कारागार से ले गए थे जहां पर वाजे और परमबीर सिंह अकेले में एक दूसरे से बात करने में सफल रहे। नवी मुंबई के शीर्ष अधिकारी ने बताया,‘‘कारण बताओं नोटिस डीसीपी (मुख्यालय) ने जारी किया है जो इस मामले की जांच कर रहे हैं। एक बार वह रिर्पोट दे दें तो हम जरूरी कार्रवाई करेंगे।”

उन्होंने बताया कि जिन चार पुलिस कर्मियों को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है उनमें एक उप निरीक्षक और तीन कांस्टेबल शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि दक्षिण मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास ‘एंटीलिया’ के पास पिछले साल फरवरी में एक वाहन से विस्फोटक मिलने के मामले में वाजे नवी मुंबई के तलोजा जेल में बंद है। वाजे ठाणे के कारोबारी मनसुख हिरन की हत्या के मामले में भी मुख्य आरोपी है। अधिकारी ने कहा, ‘‘सिंह और वाजे की मुलाकात की सूचना प्रकाश में आने के बाद मुंबई पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे और नवी मुंबई पुलिस को इसकी जानकारी दी। हमने मामले पर गंभीरता से संज्ञान लिया और चारों पुलिस कर्मियों के आरोपी को ले जाने के दौरान प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के मामले की जांच के आदेश दिए।”

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.