मध्‍य प्रदेश में सर्दी का सितम बरकरार, ग्‍वालियर में 3.5 डिग्री न्‍यूनतम तापमान, भिंड, विदिशा, राजगढ़ समेत अनेक जिलों में चली

भोपाल। राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के अधिकतर जिलों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक बादल छंट जाने और हवा का रूख लगातार उत्तरी बना रहने से मध्य प्रदेश में ठिठुरन बरकरार है। रात में जहां ठिठुरन बनी हुई है, वहां दिन में भी सर्द हवाओं के कारण सिहरन बनी हुई है। इसके चलते ग्वालियर, चंबल, सागर, भोपाल, रीवा, जबलपुर, शहडोल संभागों में शीतल दिन की स्थिति बनी हुई है। इसी क्रम में सोमवार को भिंड, ग्वालियर, विदिशा, राजगढ़, शिवपुरी, टीकमगढ़, सिवनी में तीव्र शीतल दिन रहा। इसी तरह रायसेन, गुना, अशोक नगर, मुरैना, छतरपुर, सीधी, दमोह, जबलपुर, शहडोल, शाजापुर एवं नीमच जिलों में शीतल दिन रहा।
मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक मंगलवार की सुबह ग्‍वालियर-चंबल, रीवा, जबलपुर, सागर, गुना, एवं उज्‍जैन संभागों के जिलों में मध्‍यम से घना कोहरा छाया रहा। प्रदेश के ग्‍वालियर, दतिया, रीवा, सतना एवं टीकमगढ़ जिलों में घने कोहरे की वजह से दृश्‍यता 50 मीटर से भी कम रही। मंगलवार को प्रदेश में ग्‍वालियर सबसे ठंडा रहा, जहा न्‍यूनतम तापमान 3.5 डिग्री सेल्‍सियस दर्ज किया गया। उमरिया में 4.7, नौगांव, खजुराहो व में दतिया 05 और गुना में 5.6 डिग्री न्‍यूनतम तापमान रहा। राजधानी भोपाल में मंगलवार को न्‍यूनतम तापमान 8.2 डिग्री सेल्‍सियस रहा, जो सामान्‍य से 2.2 डिग्री सेल्‍सियस कम रहा, साथ ही यह पिछले दिन के न्‍यूनतम तापमान के मुकाबले 0.6 डिग्री सेल्‍सियस अधिक रहा।
मौसम विज्ञानियों के मुताबिक वर्तमान में राजस्थान पर हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बन गया है। साथ ही मंगलवार को एक पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में प्रवेश करने की संभावना है। इसके चलते मौसम का मिजाज बदल सकता है। हवाओं का रूख बदलने से रात के तापमान में कुछ बढ़ोतरी होने के आसार हैं। इससे कड़ाके की ठंड से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है
मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि सोमवार को आसमान साफ रहने के कारण कोहरे के शीघ्र छट जाने से धूप निकली। इस वजह से प्रदेश के अधिकांश हिस्‍सों में अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई। मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में राजस्थान पर हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बन गया है। मंगलवार को एक कमजोर आवृति वाले पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में प्रवेश करने की संभावना है। हवा के ऊपरी भाग में बने इस वेदर सिस्टम के असर से राजधानी सहित प्रदेश के अधिकतर जिलों में रात के तापमान में कुछ बढ़ोतरी होने की संभावना है। इसके चलते कड़ाके की ठंड से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

ब्रेकिंग
जहानाबाद दोहरे हत्याकांड में सात आरोपियों को सश्रम आजीवन कारावास डोनियर ग्रुप ने लॉन्च किया ‘नियो स्ट्रेच # फ़्रीडम टू मूव’: एक ग्रैंड म्यूज़िकल जिसमें दिखेंगे टाइगर श... छात्र-छात्राओं में विज्ञान के प्रति रुचि जागृत करने हेतु मनी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस राबड़ी, मीसा, हेमा यादव के खिलाफ ईडी के पास पुख्ता सबूत, कोई बच नहीं सकता “समान नागरिक संहिता” उत्तराखंड में लागू - अब देश में लागू होने की बारी नगरनौसा हाई स्कूल के मैदान में प्रखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का हुआ आयोजन पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को दिलाया पांच‌ प्रण बिहार में समावेशी शिक्षा के तहत दिव्यांग बच्चों को नहीं मिल रहा लाभ : राधिका जिला पदाधिकारी ने रोटी बनाने की मशीन एवं अन्य सामग्री उपलब्ध कराया कटिहार में आरपीएफ ने सुरक्षा सम्मेलन किया आयोजित -आरपीएफ अपराध नियंत्रण में जागरूक करने के प्रयास सफ...