Logo
ब्रेकिंग
अमित शाह कल करेंगे चुनावी राज्य कर्नाटक का दौरा अपनी छोड़ सारे जहां की चिंता कर भोपाल के विद्यार्थी ने जीता पीएम मोदी का मन दिल्ली में न्यूनतम तापमान 6.1 डिग्री सेल्सियस, वायु गुणवत्ता ‘खराब' श्रेणी में बजट से पूर्व भारत को US फार्मा उद्योग की सलाह- दवा क्षेत्र के लिए बनाए अनुसंधान एवं विकास नीति Corona Update: भारत में दम तोड़ रहा कोरोना, 24 घंटे में 100 से भी कम नए केस सड़क का खंबा नहीं होता तो अंधगति से आ रहे ट्रक थाना मोबाइल को ठोकता हुआ अंदर होता, cctv में दिखा कैसे... MP: मुरैना में बड़ा हादसा, वायुसेना का सुखोई-30 और मिराज हुए क्रैश सूरत के उधना इलाके में कार शोरूम में लगी भीषण आग रूठों को मनाने के लिए कांग्रेस चलाएगी घर वापसी अभियान ‘मूड ऑफ दि नेशन सर्वे’ में बजा CM योगी का डंका, 39.1 फीसदी लोगों ने माना बेस्ट परफॉर्मिंग चीफ मिनिस्...

कोरोना का असर- ​छत्तीसगढ़ में अब होटल संचालकों को बताना होगा किस व्यंजन में कितना न्यूट्रीशन

बिलासपुर। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के दौर में कई तरह के बदलाव नजर आने लगे हैं। पहली बार होटल संचालकों को यह जानकारी देनी होगी कि किस व्यंजन में कितना न्यूट्रीशन है। इस व्यवस्था से होटल में खाने के शौकीन लोगों को जानकारी मिलेगी व न्यूट्रीशन के अनुसार मनपसंद भोजन करेंगे।

होटलों में खाने के शौकीन लोगों को अब यह जानकारी मिलेगी कि जो व्यंजन व खाद्य सामग्री आर्डर की है उसमें कितना न्यूट्रीशन है। मतलब साफ है कि लोगों को न्यूट्रीशन वैल्यू के बारे में पता रहेगा। शासन द्वारा जारी गाइड लाइन पर नजर डालें तो जल्द ही प्रदेश के बड़े शहरों में संचालित होटलों के मैनू कार्ड में व्यंजनों के आगे न्यूट्रीशन की मात्रा का भी उल्लेख रहेगा। फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथारिटी (एफएसएसएआइ) ने इसके लिए प्रविधान कर दिया है। 30 जून तक होटल संचालकों को नए निर्देश का पालन करना होगा।

ये है कारण

    • ब्लड प्रेशर और डाइबिटीज से ग्रसित लोग ऐसे व्यंजनों का आर्डर कर देते हैं, जिसमें शुगर को शामिल किया गया है, लेकिन उन्हें इसकी जानकारी नहीं होती।
    • अधिकांश व्यंजनों में नमक-मसाले ज्यादा होते हैं, लेकिन बीपी की शिकायत वाले लोग बिना जानकारी के आर्डर कर देते हैं। इसके चलते उन्हें स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों का सामान करना पड़ सकता है

ये होंगे फायदे

नई व्यवस्था के लागू होने के बाद लोगों को पहले से ही जानकारी होगी कि किस व्यंजन को बनाने के लिए क्या-क्या सामग्री मिलाई गई है। बीपी व शुगर के मरीज सोच समझकर आर्डर देंगे।

तेल की भी देनी होगी जानकारी

भोजन व व्यंजन बनाने किस ब्रांड की तेल व रिफाइंड का उपयोग किया गया है इसकी भी जानकारी देनी होगी। कैलोरी, कैल्शियम, विटामिन, प्रोटीन, फैट, एंटी आक्सीडेंट की भी जानकारी साफ तौर पर देनी होगी।

यहां जरूरी

सभी श्रेणी के होटल और रेस्टोरेंट एक से लेकर सेवन स्टार श्रेणी तक होटल शामिल हैं। इसी तरह सभी प्रकार के लाइसेंसी रेस्टोरेंट संचालकों को नया मैन्यू कार्ड तैयार करना होगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.