Logo
ब्रेकिंग
शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता मुख्यमंत्री ने ललित भवन में स्व० ललित नारायण मिश्र जी की प्रतिमा का किया अनावरण मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव मुख्यमंत्री ने लोहिया पथ चक्र के निर्माण कार्य की प्रगति का किया निरीक्षण आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार... ठोस क्रियान्वयन के लिए निरंतर सत्यापन किया जाए : राज्यपाल पटेल मध्य प्रदेश में कलेक्टर-कमिश्नर कान्फ्रेंस शुरू, सीएम शिवराज कर रहे अधिकारियों से बात

ब्यायफ्रेंड ने बनाया पोर्न वीडियो फिर डिलीट करने के मांगें 2 लाख…मासूम ने घर से चुराए तो खुली पोल

इंदौर: इंदौर के एरोड्रम थाना क्षेत्र में रहने वाली एक 17 वर्षीय नाबालिग के साथ मुख्य आरोपी ने पहले रेप किया और उसके बाद उसने वीडियो बनाया। इसके बाद अपने साथियों के साथ मिलकर लड़की को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। जिसके बाद नाबालिग ने बदनामी के डर से जैसे तैसे अपने दोस्त और घर से चुपके से पैसे निकालकर आरोपियों की डिमांड पूरी की। वीडियो का इस्तेमाल कर रंगदारी वसूलने के इस मामले में चार युवकों को गिरफ्तार किया गया है।

दरअसल, कथित तौर पर बलात्कार और उसका वीडियो बनाकर नाबालिग से ब्लैकमेल करने की वारदात इंदौर के एरोड्रम थाना क्षेत्र की है। जहां जबरन वसूली करने के लिए वीडियो का इस्तेमाल करने के आरोप में चार युवकों को गिरफ्तार किया गया है। संदिग्ध आरोपियों की उम्र करीब 20 साल बताई जा रही है और एरोड्रम रोड क्षेत्र में रहते हैं।

पुलिस के मुताबिक मुख्य आरोपी राज प्रजापर का नाबालिग के साथ कुछ महीनों तक अफेयर रहा, उसके साथ दुष्कर्म किया और उसके अश्लील वीडियो भी बनाए। वीडियो के एवज में उसने 2 लाख रुपये की मांग की और वीडियो को सोशल मीडिया पर अपलोड करने की धमकी दी।  पुलिस के मुताबिक युवती के अन्य दोस्तों ने भी स्थिति का फायदा उठाया और पैसे की मांग में मुख्य आरोपी के साथ शामिल हो गए।

एरोड्रम थाना प्रभारी संजय शुक्ला के मुताबिक, लड़की ने अपने घर से 21 हजार और दोस्त से करीब 25 हजार रुपये उधार लिए और वीडियो डिलीट कराने के लिए आरोपी को दे दिए लेकिन युवकों ने उसकी बात नहीं मानी और पैसे के लिए धमकाते रहे। इधर, इस मामले में जब नाबालिग युवती के परिजनों को पता चला तो उन्होंने सीधे पुलिस से संपर्क कर मामले की शिकायत की। इसके बाद राज प्रजापत नामक मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया जिसने अपने अन्य साथियों योगेश यादव, यानिक मालवीय और आनंद कारवाल के बारे में जानकारी दी। पुलिस की माने तो बच्ची की शिकायत पर अलग – अलग धाराओं में आरोपियों पर प्रकरण दर्ज कर कोर्ट मे पेश किया गया जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.