Logo
ब्रेकिंग
शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता मुख्यमंत्री ने ललित भवन में स्व० ललित नारायण मिश्र जी की प्रतिमा का किया अनावरण मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव मुख्यमंत्री ने लोहिया पथ चक्र के निर्माण कार्य की प्रगति का किया निरीक्षण आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार... ठोस क्रियान्वयन के लिए निरंतर सत्यापन किया जाए : राज्यपाल पटेल मध्य प्रदेश में कलेक्टर-कमिश्नर कान्फ्रेंस शुरू, सीएम शिवराज कर रहे अधिकारियों से बात

एशेज सीरीज: आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में इंग्लैंड को क्यों मिली हार, पूर्व कप्तानों ने बताया कारण

ब्रिस्बेन। गाबा में आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच एशेज सीरीज का पहला मुकाबला खेला गया। इस मैच में जो रूट की कप्तानी वाली टीम को हार का सामना करना पड़ा। इसी हार को लेकर इंग्लैंड की टीम के पूर्व कप्तान माइकल एथर्टन और एलेस्टर कुक ने बड़ा खुलासा किया है और बताया है कि इंग्लैंड की टीम को एशेज सीरीज के आगाज मैच में क्यों करारी हार मिली। पूर्व कप्तानों का कहना है कि इंग्लैंड की टीम को तैयारियों का पर्याप्त मौका नहीं मिल पाया, जिसके कारण टीम हार गई।

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल एथर्टन ने कहा कि टेस्ट कप्तान जो रूट पर उनकी अधिक निर्भरता और तैयारी की कमी ने उन्हें आस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी पांच मैचों की एशेज सीरीज के शुरुआती मुकाबले में चोट पहुंचाई थी, जिसमें मेहमान टीम को नौ विकेट से हार का सामना करना पड़ा। इंग्लैंड ने जो रूट (89) और डेविड मालन (82) के बीच 162 रनों की साझेदारी करके प्रतियोगिता में वापसी की थी, लेकिन वे शनिवार को बड़ी पारी खेलने में सक्षम नहीं हो पाए।

54 टेस्ट मैचों में इंग्लैंड की टीम की कप्तानी कर चुके माइकल एथर्टन ने कहा, “अगर आप पिछले दर्जन भर टेस्ट मैचों में इंग्लैंड को देखें तो वे रूट पर काफी निर्भर हो गए हैं। और अगर इंग्लैंड Eस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन करने जा रहा है, तो आपको लगता है कि उसे एक उत्पादक सीरीज रखनी होगी, लेकिन उसे अपने आसपास के लोगों की भी जरूरत है, ताकि वह उनका सपोर्ट कर सकें।” डाविड मलान की भी तारीफ एथर्टन ने की है।

वहीं, एलेस्टर कुक ने संडे टाइम्स में लिखा, “कोरोना महामारी है, जिसके लिए उन्हें उस तरह के कार्यक्रम की आवश्यकता थी, लेकिन फिर क्वींसलैंड में मूसलाधार बारिश ने न्यूनतम तैयारी को खत्म कर दिया। आप कह सकते हैं कि आस्ट्रेलिया ने इसी तरह के मुद्दों को झेला है, लेकिन यह पूरी तरह सच नहीं है। हमने देखा है कि इंग्लैंड के मध्य क्रम के खिलाड़ियों ने प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में 3600 से ज्यादा गेंदों का सामना किया, लेकिन शीर्ष क्रम के बल्लेबाज इसके चौथाई गेंदें भी नहीं खेल पाए।”

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.