Logo
ब्रेकिंग
चीकू की खेती से होगी 5 लाख रुपये तक की कमाई केजरीवाल ने कांग्रेस को हराने के लिए शराब घोटाला किया : अजय माकन बीएमसी बजट 2023-24 - मुंबई के इन पांच जगहो पर लगेंगे एयर प्यूरीफायर ! उद्योग में तकनीकी उन्नयन के लिए एनर्जी बॉन्ड जारी करने पर विचार कर रहा पाकिस्तान मा0 अध्यक्ष जिला पंचायत ने महामाया राजकीय महाविद्यालय भिट्टी में ’’वार्षिक क्रीडा प्रतियोगिता’’ का क... भोपाल-इंदौर में लोकसभा चुनाव से पहले दौड़ेगी भोपाल मेट्रो  छावला गैंगरेप मामले में बरी हुआ शख्स और उसका दोस्त हत्या के आरोप में गिरफ्तार व्यक्ति को जमीन पर गिराकर मारने का VIDEO....दो दिन पूर्व का बताया जा रहा, शराब के नशे में था पीड़ित जल्द शुरू होने वाला है दीघा रेलवे स्टेशन, सेंट्रल रेलवे ने पूरी की तैयारी हिंदुओं के हाथ से अगरबत्ती छुड़ाकर मोमबत्ती थमाने के चल रहे प्रयास

आयकर विभाग का कब और कहां आ सकता है नोटिस, विभाग ने दी स्‍टेप बाई स्‍टेप जानकारी

नई दिल्‍ली। आयकर विभाग ने टैक्‍सपेयर के फेसलेस असेसमेंट के लिए कुछ तरीके सुझाए हैं। मसलन कैसे आप अपना मोबाइल नंबर, ईमेल और दूसरी जानकारी अपडेट कर सकते हैं। इसके लिए टैक्‍सपेयर को कुछ जरूरी स्‍टेप्‍स को फॉलो करना होगा।

ईमेल आईडी करते रहें चेक

आयकर विभाग के नए tweet के मुताबिक कम्‍युनिकेशन के लिए करदाताओं को आयकर विभाग को दी गई ई-मेल आईडी और फोन नंबर सहित अपने ब्‍योरे को अपडेट करना चाहिए। ई-फाइलिंग पोर्टल http://incometax.gov.in से अपडेट होते रहें।

ईमेल पर आएगा नोटिस

अगर आपके मामले को जांच के लिए चुना गया है तो आपको ई-फाइलिंग पोर्टल और रजिस्‍टर ई-मेल खाते पर आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 143(2) के तहत एक नोटिस मिलेगा। उसी के लिए समय पर प्रतिक्रिया दर्ज करें।

अधिक जानकारी के लिए आएगा एक और नोटिस

अगर विभाग को अधिक ब्‍योरे की आवश्यकता है तो ई-फाइलिंग पोर्टल और रजिस्‍टर ई-मेल खाते पर आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 142(1) के तहत सवालों के साथ नोटिस मिलेगा। डेडलाइन के भीतर अपना उत्तर दाखिल कर दें।

स्‍थगन की मांग कब

असेसमेंट की कार्यवाही के दौरान अगर जरूरत पड़े तो आप स्थगन की मांग कर सकते हैं। हालांकि, स्थगन की मांग के लिए वजह उपयुक्‍त होनी चाहिए।

वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग का फायदा कब मिलेगा

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई का फायदा केवल कारण बताओ नोटिस और मसौदा मूल्यांकन आदेश के जवाब में लिखित प्रस्तुतियां दाखिल करने के बाद लिया जा सकता है।

लिखित जवाब देने के बाद VC

लिखित सबमिशन दाखिल करने के बाद ई-फाइलिंग पोर्टल http://incometax.gov.in पर VC टैब का उपयोग करके आप वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई करा सकते हैं।

नोटिस को नजरअंदाज न करें

नोटिस का जवाब देने में विफलता या समय के भीतर जवाब नहीं देने पर आपको सही फैसला नहीं मिल पाएगा। अंतिम आदेश जारी होने से पहले मसौदा मूल्यांकन आदेश के साथ कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा। इसका तय समय के भीतर जवाब दिया जाना चाहिए ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.