सुशील मोदी ने कहा- स्वास्थ्य सेवा में बिहार का क्रमिक प्रदर्शन बेहतर, 8 राज्य पिछड़े

पटनाः बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार स्वास्थ्य सेवाओं में लगातार सुधार कर रहा है और इसका ही नतीजा है कि गुणवत्ता के मामले में केरल से फासला कम करने में राज्य को कामयाबी मिली है।

सुशील मोदी ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं पर नीति आयोग के ताजा सूचकांक में बिहार 18 वें स्थान पर है, लेकिन इसी आयोग की रिपोर्ट में बिहार इन्क्रीमेटल परफॉर्मेंस (आइपी) के मामले में 11 वें स्थान पर है। वर्ष 2018-19 और 2019-20 में बिहार का आइपी अच्छा रहा, जबकि इसी अवधि में राजस्थान, छत्तीसगढ़, उडीसा, हरियाणा समेत आठ राज्यों का आइपी शून्य या नकारात्मक रहा।


भाजपा सांसद ने कहा कि आयोग ने बिहार की स्वास्थ्य सेवा के कई मानकों में बेहतरी को सराहनीय माना है। बिहार 2017-18 में नवजात शिशु और पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों की मृत्यु दर में क्रमश: 7.4 फीसद और 30.19 फीसद तक की कमी लाने में सफल रहा। मोदी ने कहा कि हेल्थ आउटकम श्रेणी में बिहार का आइपी 0.9 फीसद रहा और गुणवत्ता के मामले में केरल से फासला कम करने में कामयाबी मिली। 2015- 2020 के बीच बच्चों के पूर्ण टीकाकरण में बिहार ने 15.10 फीसद की वृद्धि की।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

ब्रेकिंग
जहानाबाद दोहरे हत्याकांड में सात आरोपियों को सश्रम आजीवन कारावास डोनियर ग्रुप ने लॉन्च किया ‘नियो स्ट्रेच # फ़्रीडम टू मूव’: एक ग्रैंड म्यूज़िकल जिसमें दिखेंगे टाइगर श... छात्र-छात्राओं में विज्ञान के प्रति रुचि जागृत करने हेतु मनी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस राबड़ी, मीसा, हेमा यादव के खिलाफ ईडी के पास पुख्ता सबूत, कोई बच नहीं सकता “समान नागरिक संहिता” उत्तराखंड में लागू - अब देश में लागू होने की बारी नगरनौसा हाई स्कूल के मैदान में प्रखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का हुआ आयोजन पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को दिलाया पांच‌ प्रण बिहार में समावेशी शिक्षा के तहत दिव्यांग बच्चों को नहीं मिल रहा लाभ : राधिका जिला पदाधिकारी ने रोटी बनाने की मशीन एवं अन्य सामग्री उपलब्ध कराया कटिहार में आरपीएफ ने सुरक्षा सम्मेलन किया आयोजित -आरपीएफ अपराध नियंत्रण में जागरूक करने के प्रयास सफ...