कटरा: माता वैष्णो देवी भवन में भगदड़, 12 की मौत; प्रधानमंत्री ने किया अनुग्रह राशि का एलान

कटरा। नए साल के मौके पर मां वैष्णो देवी के दर्शन को पहुंची श्रद्धालुओं की भीड़  में शनिवार सुबह भगदड़ मचने से 12 लोगों की मौत हो गई। हादसे में घायलों का इलाज नारायणा अस्पताल (Naraina hospital) में जारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर दुख जताया और भगदड़ में जान गंवाने वालों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि और घायलों को 50,000 रुपये देने का ऐलान किया है। जम्मू-कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा ने भी कटरा में माता वैष्णो देवी भवन में भगदड़ में मारे गए लोगों के परिजनों को 10 लाख रुपये और घायलों को दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने का एलान किया

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया, ‘घटना सुबह करीब 2:45 बजे हुई और प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार एक तर्क छिड़ा जिसके परिणामस्वरूप लोगों ने एक-दूसरे को धक्का दिया और फिर भगदड़ मच गई।’

प्रधानमंत्री मोदी व गृहमंत्री अमित शाह ने जताया दुख 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘माता वैष्णो देवी भवन में मची भगदड़ में लोगों की मौत से अत्यंत दुखी हूं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय जी से बात की और स्थिति का हालात का जायजा लिया।’  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी माता वैष्णो देवी मंदिर में हुए हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने कहा, ‘इस दुखद दुर्घटना से हृदय अत्यंत व्यथित है। मैंने जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा जी से बात की है। प्रशासन घायलों को उपचार पहुंचाने के लिए निरंतर कार्यरत है। हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।’

हादसे की जानकारी आज सुबह  रियासी पुलिस कंट्रोल रूम से दी गई। अधिकारियों के अनुसार, त्रिकुटा पर्वत पर श्रद्धालुओं की भीड़ अधिक होने के कारण यह हादसा हुआ। इसकी सूचना मिलते ही वहां वरिष्ठ अधिकारी व बोर्ड प्रतिनिधि पहुंच गए।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रखंड चिकित्सा अधिकारी डाक्टर गोपाल दत्त ने बताया कि मृतक श्रद्धालु दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और जम्मू कश्मीर के हैं। पहले भगदड़ में उन्होंने 6 मौत की पुष्टि की थी।

डाक्टर गोपाल दत्त ने बताया, ‘अभी तक 6 शव हमारे पास आ गए हैं। लेकिन अभी हमारे पास सटीक डाटा नहीं मिला है। 6 शवों का पोस्टमार्टम किया जाएगा और जो घायल है उनका इलाज नारायणा अस्पताल में चल रहा है, अभी तक घायलों की संख्या की भी पुष्टि नहीं हुई है।’

हादसे में मरने वाले 12 श्रद्धालुओं में से अब तक 8 श्रद्धालुओं की पहचान हो पाई है।

  1. धीरज कुमार (26) पुत्र त्रिलोक कुमार निवासी नौशहरा राजौरी
  2. श्वेता सिंह (24) पत्नी विक्रांत सिंह निवासी गाजियाबाद उत्तर प्रदेश
  3. विनय कुमार (24) पुत्र महेश चंद्र निवासी बदरपुर दिल्ली
  4. सोनू पांडे (24) पुत्र नरेंद्र पांडे निवासी बदरपुर दिल्ली
  5. ममता (38) पत्नी सुरेंद्र निवासी बीरी जार्जर, हरियाणा
  6. वनीत कुमार (38) पुत्र वीरामपाल सिंह निवासी साहरनपुर उत्तर प्रदेश
  7. धर्मवीर सिंह (35) निवासी सालापुर, सहारनपुर उत्तर प्रदेश
  8. डॉ अरुण प्रताप सिंह (30) पुत्र सत प्रकाश सिंह निवासी गोरखपुर उत्तर प्रदेश

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

ब्रेकिंग
जहानाबाद दोहरे हत्याकांड में सात आरोपियों को सश्रम आजीवन कारावास डोनियर ग्रुप ने लॉन्च किया ‘नियो स्ट्रेच # फ़्रीडम टू मूव’: एक ग्रैंड म्यूज़िकल जिसमें दिखेंगे टाइगर श... छात्र-छात्राओं में विज्ञान के प्रति रुचि जागृत करने हेतु मनी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस राबड़ी, मीसा, हेमा यादव के खिलाफ ईडी के पास पुख्ता सबूत, कोई बच नहीं सकता “समान नागरिक संहिता” उत्तराखंड में लागू - अब देश में लागू होने की बारी नगरनौसा हाई स्कूल के मैदान में प्रखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का हुआ आयोजन पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को दिलाया पांच‌ प्रण बिहार में समावेशी शिक्षा के तहत दिव्यांग बच्चों को नहीं मिल रहा लाभ : राधिका जिला पदाधिकारी ने रोटी बनाने की मशीन एवं अन्य सामग्री उपलब्ध कराया कटिहार में आरपीएफ ने सुरक्षा सम्मेलन किया आयोजित -आरपीएफ अपराध नियंत्रण में जागरूक करने के प्रयास सफ...