Logo
ब्रेकिंग
Budget 2023: बजट में बुजुर्गों के लिए बड़ा ऐलान, यह योजना बनेगी सीनियर सिटीजन्स का सहारा केन्द्रीय बजट में दूरदृष्टि का आभाव : सीएम यह बजट मोदी सरकार के आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को और गति देगा: अमित शाह 12 घंटों के अंदर कई जिलों में हो सकती है तेज बारिश, ओले गिरने के भी आसार यूएन प्रमुख ने पाकिस्तान के पेशावर मस्जिद में आत्मघाती हमले की निंदा की आम बजट से है बहुत उम्मीदें मध्यम वर्ग को बड़ी सौगात, अब 7 लाख तक ले सकते हैं टैक्स छूट आयुष्मान खुराना का नाम मुंबई की बजाय पंजाब टीम में है शामिल फैजल खान ने डांस-एक्टिंग से बदली घरवालों की किस्मत अब रॉकी भाई 'रावण' के किरदार में नजर आएंगे, फिल्ममेकर ने अगली मूवी के लिए किया अप्रोच

PM मोदी ने जारी की आज 10वीं किस्त, 10 करोड़ किसानों को मिलेगा फायदा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को 10.09 करोड़ किसानों को पीएम-किसान योजना के तहत 20,900 करोड़ रुपये की 10वीं किस्त जारी की। प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये आयोजित कार्यक्रम में लाभार्थियों को यह राशि जारी की। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत पात्र किसानों को एक साल में 6,000 रुपये की वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई जाती है।

किसानों को यह राशि 2,000 रुपये की तीन समान किस्तों में उनके बैंक खाते में स्थानांतरित की जाती है। वर्चुअल कार्यक्रम में मोदी ने 351 कृषक उत्पादक संगठनों (एफपीओ) को 14 करोड़ रुपये से अधिक का इक्विटी अनुदान भी जारी किया। इससे 1.24 लाख किसानों को फायदा होगा। इस कार्यक्रम में नौ राज्यों के मुख्यमंत्री, विभिन्न राज्यों के मंत्री और कृषि संस्थानों के प्रतिनिधि भी वर्चुअल तरीके से शामिल हुए। इस मौके पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि नए साल 2022 के पहले दिन 10.09 करोड़ लाभार्थियों के खातों में 20,900 करोड़ रुपये की राशि स्थानांतरित की गई है। उन्होंने कहा कि पीएम-किसान कार्यक्रम सरकार के किसानों की आमदनी को दोगुना करने के प्रयासों में मदद करने के लिए शुरू किया गया है।

इससे पहले पीएम-किसान की नौवीं किस्त अगस्त, 2021 में जारी की गई थी। आज जारी राशि के बाद अबतक इस योजना के तहत किसानों को 1.8 लाख करोड़ रुपये उपलब्ध कराए जा चुके हैं। पीएम-किसान योजना की घोषणा फरवरी, 2019 के बजट में की गई थी। इसके तहत पहली किस्त दिसंबर, 2018 से मार्च, 2019 की अवधि के लिए जारी की गई थी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.