Logo
ब्रेकिंग
बड़वानी जिले में हादसा, वाहन को धक्‍का लगा रहे लोगों को ट्रक ने रौंदा, तीन लोगों की मौत पठान फ़िल्म के विरोध के दौरान आपत्तिजनक नारेबाजी करने वाले हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं को भेजा जेल मासूम बच्चों और पत्नी की हत्या के आरोपित पति व दोस्त को भेजा जेल 'भारत जोड़ो यात्रा' में शामिल हुईं PDP चीफ महबूबा मुफ्ती, हाफ जैकेट व टोपी पहने दिखे राहुल गांधी भोपाल के दीपेश और रितिका ने पूछा प्रधानमंत्री से सवाल, मिला यह जवाब बंद पड़ी खदान में गैस रिसाव से चार लोगों की मौत, कबाड़ चोरी करने घुसे थे पर्यावास भवन में तीसरी मंजिल पर खाद्य विभाग के दफ्तर में भड़की आग, फर्नीचर, दस्‍तावेज, कंप्‍यूटर जलक... गुरुग्रंथ साहिब को लेकर राजनीति नहीं, ठोस निर्णय हो खुद को कुंवारा बता हिंदू युवती से संबंध बनाए, पिता-पुत्र सहित तीन पर केस MP में भाजपा नेता ने राहुल गांधी को लिखा पत्र, कहा

भाजपा विधायक माधुरी वर्मा तथा बसपा के पूर्व सांसद राकेश पाण्डेय समाजवादी पार्टी में शामिल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी कुनबा बढ़ाओ अभियान में लगी है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को भाजपा के साथ ही बसपा से आए नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाई। इस दौरान उनके साथ सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष पूर्व कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर भी थे।

समाजवादी पार्टी ने सोमवार को भाजपा के साथ बसपा को झटका दिया। बहराइच के नानपारा से भाजपा की विधायक माधुरी वर्मा के साथ ही अम्बेडकरनगर से सांसद रहे बसपा के नेता राकेश पाण्डेय, शिक्षा क्षेत्र की पूर्व एमएलसी कांति सिंह, प्रतापगढ़ से पूर्व विधायक बृजेश मिश्रा सौरभ ने भी समाजवादी पार्टी की सदस्यता ली है। गजराज नागर के साथ महेन्द्र निषाद तथा अखंड जल वंसी संगठन के लोग भी समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए।

राकेश पाण्डेय पूर्वी यूपी और अवध क्षेत्र के बड़े ब्राह्मण चेहरों में से एक हैं। उनके बेटे रितेश पाण्डेय अम्बेडकर नगर से बहुजन समाज पार्टी से सांसद हैं। राकेश पाण्डेय के सपा में शामिल होने से बसपा को बड़ा झटका लगा है। अम्बेडकरनगर से विधायक लालजी वर्मा तथा रामअचल राजभर पहले ही समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए थे। राकेश पाण्डेय 2009 में समाजवादी पार्टी को छोड़कर बसपा में शामिल हुए थे। 2009 में वह बसपा के टिकट पर सांसद चुने गए थे तब से वह बसपा में ही बने हुए थे।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सभी को पार्टी की सदस्यता दिलाई और उनका स्वागत किया। उन्होंने कहा कि जिस तरह से अलग-अलग पार्टियों के नेता समाजवादी पार्टी पर विश्वास दिखा रहे हैं। उससे तो यह साफ है कि भाजपा चुनाव हारने जा रही है और समाजवादी पार्टी की सरकार बनने वाली है। अखिलेश यादव ने कहा कि जिस दिन से नए साल पर 300 यूनिट बिजली फ्री देने का फैसला सपा ने लिया है और किसानों की सिंचाई मुफ्त होगी, सबसे ज्यादा तकलीफ भारतीय जनता पार्टी को हो रही है।

सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने इस अवसर पर कहा कि मैंने तो तीन वर्ष पहले कहा था भाजपा को सत्ता से हटाना है। अब भाजपा को सत्ता से हटाने का समय आ गया है। इनके राज में आवारा जानवरों से किसान तथा जनता परेशान है। प्रदेश में यह तो तय है कि अब सपा गठबंधन की सरकार बनानी है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.