छत्‍तीसगढ़ के दुर्ग केंद्रीय जेल में धार्मिक किताब के अपमान पर हंगामा

भिलाई। छत्‍तीसगढ़ के दुर्ग केंद्रीय जेल में कैदी द्वारा कथित तौर पर धार्मिक किताब के पन्‍ने फाड़कर सिगरेट पीने और शिकायत किए जाने पर जेलर द्वारा धार्मिक किताब जला देने के बयान के सार्वजनिक होने के बाद हंगामा शुरू हो गया है। सोमवार देर शाम जेल के बाहर काफी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग जमा हो गए। स्थिति पर नियंत्रण के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। पूरे घटनाक्रम के विरोध में जेलर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने और उसे बर्खास्त करने की मांग को लेकर लोग जेल के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं।

    • -जेलर बर्खास्तगी की मांग को लेकर प्रदर्शनकारी जेल के सामने सड़क पर बैठे
    • -जेल के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात, वरिष्ठ अधिकारी पहुंचे

जानकारी के मुताबिक जेल में बंद एक कैदी की मां ने बताया कि उसे अपने बेटे से पता चला कि जेल के बैरक में रखे धार्मिक किताब शरीफ की अन्य बंदी अपमान कर रहे हैं। उसके पन्‍नों को फाड़कर सिगरेट बनाकर पीते हैं। उन्होंने इसकी शिकायत जेलर एस शोभारानी से की और उनसे अपील की कि धार्मिक किताब शरीफ उन्हें दे दिया जाए। इस पर जेलर एस शोभारानी ने कहा कि जेल की कोई भी चीज बाहर नहीं जाती है। साथ ही वहां मौजूद अपने अधीस्थ कर्मी को कहा कि धार्मिक किताब को फाड़कर उसे जला दें। यह बात जब अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों तक पहुंची तो वे आक्रोशित हो गए। इसके बाद जेल के बाहर लोग जुटने लगे। हालात खराब होते देख अतिरिक्त पुलिस बल बुलाया गया और वरिष्ठ अधिकारी मौके पर मौजूद हैंं

सिगरेट के लिए तंबाकू पहुंचने पर जेल की व्यवस्था सवालों में

जेल में सिगरेट के लिए तंबाकू पहुंंचने को लेकर जेल प्रशासन की व्यवस्था और सुरक्षा फिर सवालों के घेरे में है। आखिर जेल में तंबाकू और अन्य सामान कैसे बंदियों तक पहुंच रहे हैं? बंदियों और उनके मुलाकातियों को ये सुविधाएं कौन उपलब्ध करवा रहा हैं? जेल की व्यवस्था को ध्वस्त करने और सुरक्षा को खतरे में कौन जिम्मेदार है? इस मामले को लेकर अधिकारी खामोश हैंं।

जांच टीम गठित की है

कलेक्टर ने इस मामले की जांच के लिए टीम गठित कर दी है। उनकी जांच रिपोर्ट मिलने के बाद ही हम आगे की कार्रवाई करेंगे। -बद्रीनारायण मीणा, एसएसपी दुर्ग

मैं ऐसा पाप कभी नहीं कर सकती

सारे आरोप झूठे और गलत है। जेल में सभी पंथ के लोग हैं और हम सभी का सम्मान करते हुए चलते हैं। मैं ऐसा पाप कभी नहीं कर सकती। -एस .शोभारानी, जेलर केंद्रीय जेल दुर्ग

जल्द ही रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा

इस मामले की जांच के लिए एसडीएम दुर्ग के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम बनाई गई है। उनसे जल्द ही रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है। -नुपुर राशि पन्‍ना, एडीएम दुर्ग

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

ब्रेकिंग
जहानाबाद दोहरे हत्याकांड में सात आरोपियों को सश्रम आजीवन कारावास डोनियर ग्रुप ने लॉन्च किया ‘नियो स्ट्रेच # फ़्रीडम टू मूव’: एक ग्रैंड म्यूज़िकल जिसमें दिखेंगे टाइगर श... छात्र-छात्राओं में विज्ञान के प्रति रुचि जागृत करने हेतु मनी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस राबड़ी, मीसा, हेमा यादव के खिलाफ ईडी के पास पुख्ता सबूत, कोई बच नहीं सकता “समान नागरिक संहिता” उत्तराखंड में लागू - अब देश में लागू होने की बारी नगरनौसा हाई स्कूल के मैदान में प्रखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का हुआ आयोजन पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को दिलाया पांच‌ प्रण बिहार में समावेशी शिक्षा के तहत दिव्यांग बच्चों को नहीं मिल रहा लाभ : राधिका जिला पदाधिकारी ने रोटी बनाने की मशीन एवं अन्य सामग्री उपलब्ध कराया कटिहार में आरपीएफ ने सुरक्षा सम्मेलन किया आयोजित -आरपीएफ अपराध नियंत्रण में जागरूक करने के प्रयास सफ...