छत्तीसगढ़ में 10 हजार करोड़ के दवा बाजार पर रिलायंस और टाटा कंपनी की नजर

रायपुर। प्रदेश के सालाना 10 हजार करोड़ से अधिक के दवा कारोबार पर अब रिलायंस और टाटा जैसी कंपनियों की नजर है। इन कंपनियों द्वारा दवा उपभोक्ताओं के लिए राज्य के सभी जिलों में जगह-जगह मेडिकल दुकान खोलने की योजना है। रिलायंस कंपनी द्वारा राजधानी में करीब 12 मेडिकल स्टोर के माध्यम से इसकी शुरुआत की जा चुकी है। वहीं टाटा कंपनी भी दवा दुकानें जल्द ही खोलने की तैयारी में है।

इन सबके बीच राज्य के थोक दवा व्यापारियों की चिंताएं बढ़ गई है। इसका कारण दवा कंपनियों द्वारा कारपोरेट हाउस और थोक दवा व्यापारियों के लिए दवाओं की अलग-अलग कीमत है। दवा कंपनियां कारपोरेट हाउस या बड़ी कंपनियों को कम कीमत पर दवाएं उपलब्ध करा रही हैं, इससे बड़ी कंपनियां बाजार में भी कम कीमत पर दवाएं दे रही हैं, जबकि थोक दवा व्यापारियों को वही दवाएं अधिक कीमत पर दी जाती हैं।

नेशनल फार्मास्युटिकल प्राइजिंग अथारिटी के अंतर्गत नियंत्रित मूल्य की दवाओं पर थोक दवा व्यापारियों को आठ फीसद व चिल्हर दवा व्यापारियों को 16 फीसद लाभ का प्रविधान है। रायपुर दवा संघ के सचिव लोकश साहू ने बताया कि दवा कंपनियों द्वारा कारपोरेट हाउस व दवा व्यापारियों के लिए अलग-अलग खरीदी मूल्य और अंतर को लेकर राज्य के व्यापारियों ने राष्ट्रीय स्तर पर कंपनी व दवा संघ के समक्ष अपनी समस्याओं को रखा है। बता दें कि राज्य में 3,000 से अधिक मेडिकल दुकानें हैं। बड़ी कंपनियों द्वारा दवा बाजार में उतरने पर यहां अधिक दवा दुकानें खुलेंगी।

दवा कंपनियों से सस्ती दवाएं मिलती हैं

राज्य में बड़ी कंपनियां मेडिकल दुकानों के माध्यम से दवा बाजार में उतर रही हैं। दवा कंपनियों द्वारा इन्हें सस्ती दर पर दवाएं मिलने से ये कम मार्जिन में दवां विक्रय करती हैं, जबकि दवा निर्माता कंपनियां हमें अधिक कीमत पर दवाएं उपलब्ध कराती हैं। राष्ट्रीय स्तर पर हमने इस समस्या को लेकर दवा कंपनियों व दवा संघ से शिकायत की है।

-विनय कृपलानी, अध्यक्ष, रायपुर दवा संघ

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

ब्रेकिंग
जहानाबाद दोहरे हत्याकांड में सात आरोपियों को सश्रम आजीवन कारावास डोनियर ग्रुप ने लॉन्च किया ‘नियो स्ट्रेच # फ़्रीडम टू मूव’: एक ग्रैंड म्यूज़िकल जिसमें दिखेंगे टाइगर श... छात्र-छात्राओं में विज्ञान के प्रति रुचि जागृत करने हेतु मनी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस राबड़ी, मीसा, हेमा यादव के खिलाफ ईडी के पास पुख्ता सबूत, कोई बच नहीं सकता “समान नागरिक संहिता” उत्तराखंड में लागू - अब देश में लागू होने की बारी नगरनौसा हाई स्कूल के मैदान में प्रखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का हुआ आयोजन पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को दिलाया पांच‌ प्रण बिहार में समावेशी शिक्षा के तहत दिव्यांग बच्चों को नहीं मिल रहा लाभ : राधिका जिला पदाधिकारी ने रोटी बनाने की मशीन एवं अन्य सामग्री उपलब्ध कराया कटिहार में आरपीएफ ने सुरक्षा सम्मेलन किया आयोजित -आरपीएफ अपराध नियंत्रण में जागरूक करने के प्रयास सफ...