बिहारः अशोक-औरंगजेब विवाद में जदयू लेकर आया सुबूत, कहा- सहमत हो तो करें ये मांग

पटना: भाजपा की ओर से नाटक सम्राट अशोक के लेखक दया प्रकाश सिन्हा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के बावजूद जदयू अवार्ड वापसी की मांग पर अड़ा हुआ है। जदयू साक्ष्य के आधार पर यह बता रहा है कि लेखक ने जानबूझ कर अशोक महान का अपमान किया। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता एवं पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने शनिवार को कहा कि यह राजनीति से अधिक विचार का विषय है कि कैसे विश्व प्रसिद्ध एवं शक्तिशाली भारतीय मौर्य राजवंश के महान चक्रवर्ती सम्राट अशोक को अपमानित किया गया। यह राष्ट्रीय अस्मिता, राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह व भारतीयों के आत्मसम्मान से जुड़ा मामला है।

नीरज ने सिन्हा की पुस्तक का हवाला दिया। उन्होंने कहा कि पुस्तक की भूमिका में लिखा है-कामाशोक, चंडाशोक और धम्माशोक एक के बाद एक नहीं आए। ये तीनों उसके शरीर में एक साथ, लगातार और जीवनपर्यन्त जीवित रहे। वह कामाशोक केवल नवायु में ही नहीं था। देवी के बाद उसके अन्त:पुर में पांच सौ स्त्रियां थीं। फिर उसकी घोषित पत्नियां थीं। वृद्धावस्था में तिष्यरक्षिता। वह आजीवन काम से मुक्ति नहीं पा सका नीरज ने कहा कि लेखक इतिहास को मिथक और मिथक को इतिहास बनाने की जो साजिश की है, उसके बचाव में आना विचारधारा की लड़ाई का अंग हो सकता है। लेकिन राजनैतिक गठबंधन का नहीं। इसलिए सम्राट अशोक को महान मानने वाले तमाम लोग दया प्रकाश सिन्हा की अवार्ड वापसी की पुरजोर मांग करें। बता दें कि मामले के तूल पकड़ने के बाद बिहार भाजपा अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल ने पटना के कोतवाली थाने में गुरुवार को लेखक दया प्रकाश सिन्हा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। संजय ने खास समुदाय की भावना आहत करने का आरोप लगाते हुए आइपीसी की विभिन्न धाराओं और आइटी एक्ट के तहत केस दर्ज करवाया है। इसके पहले ललन सिंह और उपेंद्र कुशवाहा भी दया प्रकाश सिन्हा को दिए गए सभी अवार्ड को वापस करने की गुहार पीएम और राष्ट्रपति से की थी। दया प्रकाश सिन्हा ने अपने एक लेख में अशोक को औरंगजेब की तरह क्रूर शासक बताया गया है। उन्होंने लिखा कि सम्राट अशोक बेहद बदसूरत और कामुक थे। दूसरों को शोक में देखकर खुश होते थे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

ब्रेकिंग
जहानाबाद दोहरे हत्याकांड में सात आरोपियों को सश्रम आजीवन कारावास डोनियर ग्रुप ने लॉन्च किया ‘नियो स्ट्रेच # फ़्रीडम टू मूव’: एक ग्रैंड म्यूज़िकल जिसमें दिखेंगे टाइगर श... छात्र-छात्राओं में विज्ञान के प्रति रुचि जागृत करने हेतु मनी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस राबड़ी, मीसा, हेमा यादव के खिलाफ ईडी के पास पुख्ता सबूत, कोई बच नहीं सकता “समान नागरिक संहिता” उत्तराखंड में लागू - अब देश में लागू होने की बारी नगरनौसा हाई स्कूल के मैदान में प्रखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का हुआ आयोजन पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को दिलाया पांच‌ प्रण बिहार में समावेशी शिक्षा के तहत दिव्यांग बच्चों को नहीं मिल रहा लाभ : राधिका जिला पदाधिकारी ने रोटी बनाने की मशीन एवं अन्य सामग्री उपलब्ध कराया कटिहार में आरपीएफ ने सुरक्षा सम्मेलन किया आयोजित -आरपीएफ अपराध नियंत्रण में जागरूक करने के प्रयास सफ...