PM की सुरक्षा चूक मामले की जांच कर रहीं जस्टिस इंदु मल्होत्रा को आया धमकी भरा फोन कॉल

पंजाब दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक का मामला जहां सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गया है।  वहीं, इस केस में जांच कमेटी की चेयर पर्सन और पूर्व जज जस्टिस इंदु मल्होत्रा को धमकी मिली है। बता दें कि 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पंजाब यात्रा के दौरान सुरक्षा में हुई चूक की जांच के लिए कमेटी का ऐलान किया था, ये पांच सदस्यीय कमेटी पूर्व न्यायाधीश इंदु मल्होत्रा की अध्यक्षता में गठित की गई है। इस बीच उन्हें सिख फॉर जस्टिस की तरफ से धमकी भरा फोन कॉल आया है।

SFJ के रिकार्डेड मैसेज के अनुसार, उसके खिलाफ शिकायत करने वाले वकीलों ने खुद को खतरनाक स्थिति में डाल लिया है। जस्टिस इंदु मल्होत्रा को जांच नहीं करने दी जाएगी, 26 जनवरी को मोदी को फिर रोका जाएगा।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के कई वकीलों ने दावा किया था कि उन्हें पंजाब में PM मोदी की सुरक्षा में हुई चूक मामले की सुनवाई से जुड़े जजों के लिए धमकी भरे फोन आ रहे हैं। सिख फॉर जस्टिस ने खुद को प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के लिए ज‍िम्‍मेदार बताया था। इसके बाद दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने भारतीय दंड संहिता की धारा 153, 153-A, और 506 के तहत गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA) की धारा 13, 16, 18 और 20 के तहत FIR दर्ज की थी।

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में पंजाब में पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक की जांच के लिए रिटायर्ड न्यायाधीश न्यायमूर्ति इंदु मल्होत्रा की अध्यक्षता वाली जांच समिति की घोषणा की है।

गौरतलब है कि पंजाब के फिरोजपुर में 5 जनवरी को प्रधानमंत्री का काफिला एक फ्लाईओवर पर फंस गया था। जिसके चलते वो एक रैली सहित किसी भी कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके थे, और रास्ते से दिल्ली वापस लौटना पड़ा था। केंद्र सरकार ने इस घटना के लिए पंजाब की कांग्रेस सरकार को जिम्मेदार ठहराया और उससे रिपोर्ट मांगी थी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

ब्रेकिंग
जहानाबाद दोहरे हत्याकांड में सात आरोपियों को सश्रम आजीवन कारावास डोनियर ग्रुप ने लॉन्च किया ‘नियो स्ट्रेच # फ़्रीडम टू मूव’: एक ग्रैंड म्यूज़िकल जिसमें दिखेंगे टाइगर श... छात्र-छात्राओं में विज्ञान के प्रति रुचि जागृत करने हेतु मनी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस राबड़ी, मीसा, हेमा यादव के खिलाफ ईडी के पास पुख्ता सबूत, कोई बच नहीं सकता “समान नागरिक संहिता” उत्तराखंड में लागू - अब देश में लागू होने की बारी नगरनौसा हाई स्कूल के मैदान में प्रखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का हुआ आयोजन पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को दिलाया पांच‌ प्रण बिहार में समावेशी शिक्षा के तहत दिव्यांग बच्चों को नहीं मिल रहा लाभ : राधिका जिला पदाधिकारी ने रोटी बनाने की मशीन एवं अन्य सामग्री उपलब्ध कराया कटिहार में आरपीएफ ने सुरक्षा सम्मेलन किया आयोजित -आरपीएफ अपराध नियंत्रण में जागरूक करने के प्रयास सफ...