Logo
ब्रेकिंग
573 मीटर ऊंची पहाड़ी पर रोकी पेड़ों की कटाई, अब इस पहाड़ी पर हरे-भरे हैं डेढ़ लाख से ज्यादा पेड़ नाराज मुख्यमंत्री की लगातार 6 पोस्ट, ईडी-आईटी वाले अफसरों को मुर्गा बनाकर पीट रहे हैं, अब शिकायत मिल... रिफ्लेक्टर जैकेट, एल्कोमीटर होने के बाद भी रात में ट्रैफिक पुलिस सड़कों से हो जाती है गायब दिन का तापमान जहां 28 डिग्री, न्यूनतम 8.1 डिग्री पर पहुंचा, सर्द उत्तरी हवाओं से दिन में भी बढ़ी ठिठु... अलीगढ़ में जिला बॉडी बिल्डिंग एसोसिएशन ने कराई प्रतियोगिता, प्रदेश के 200 से ज्यादा युवा हुए शामिल मध्यप्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों से गुजर रही यात्रा, भिलाई नगर विधायक निभा रहे अहम भूमिका 14.5 करोड़ की हेरोइन बरामद, आरोपियों से 20 हजार ड्रग मनी और 2 स्कूटर भी मिले  भारत जोड़ो यात्रा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगने पर कांग्रेस नेताओं पर केस दर्ज  ट्रक से टकराए बाइक सवार बुजुर्ग; सिंगोडी बाइपास पर युवक की भी मौत स्टूडेंट्स के उज्ज्वल भविष्य के लिए लिंग्याज की टीम करियर काउंसलिंग कर दिखा रही राह

55 आर्म्स लाइसेंस धारकों पर दर्ज पुलिस केस, गन हाउस के स्टॉक की भी जांच

चंडीगढ़: पंजाब में गन कल्चर को खत्म करने की मुहिम के तहत संगरूर जिला प्रशासन द्वारा 119 आर्म्स लाइसेंस कैंसिल करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। जिला मजिस्ट्रेट जतिंदर जोरवाल ने बताया कि इन आर्म्स लाइसेंस धारकों को नोटिस जारी करने की प्रक्रिया जारी है। उन्होंने बताया कि जिला पुलिस द्वारा 55 ऐसे लोगों के भी आर्म्स लाइसेंस रद्द करने की सिफारिश की गई है, जिनके खिलाफ पुलिस केस दर्ज हैं।जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि सब-डिवीजन स्तर पर आर्म्स लाइसेंस धारकों के लाइसेंस की पड़ताल के लिए कमेटियां गठित की गई हैं। इसमें संबंधित उप-मंडल डिवीजन के SDM, DSP, तहसीलदार और थाना प्रभारी शामिल हैं, जो कि सभी आर्म्स लाइसेंस की गहनता से जांच कर रहे हैं। जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि कमेटियों को हिदायत दी गई है कि प्राथमिकता के आधार पर जांच प्रक्रिया को पूरा किया जाए।सोशल मीडिया पर हथियार दिखाने वाले 7 लोगों पर केस दर्जजिला SSP सुरेंद्र लांबा ने बताया कि सोशल मीडिया पर हथियारों का प्रचार करने वाले 7 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जो कोई व्यक्ति एक लाइसेंस पर निर्धारित हथियार से अधिक रखे हुए है, उनके आर्म्स लाइसेंस कैंसिल करने के लिए कार्रवाई जारी है। SSP ने बताया कि जिले के सभी गन हाउस में मौजूद हथियारों के स्टॉक की भी जांच की जा रही है। इसके लिए SP और DSP की ड्यूटी लगाई गई है। इस जांच प्रक्रिया को जल्द ही पूरा कर लिए जाने की बात कही गई।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.