Logo
ब्रेकिंग
शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता मुख्यमंत्री ने ललित भवन में स्व० ललित नारायण मिश्र जी की प्रतिमा का किया अनावरण मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव मुख्यमंत्री ने लोहिया पथ चक्र के निर्माण कार्य की प्रगति का किया निरीक्षण आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार... ठोस क्रियान्वयन के लिए निरंतर सत्यापन किया जाए : राज्यपाल पटेल मध्य प्रदेश में कलेक्टर-कमिश्नर कान्फ्रेंस शुरू, सीएम शिवराज कर रहे अधिकारियों से बात

ना काहू से दोस्ती, ना काहू से बैर के सिद्धांत पर चली छत्तीसगढ़ विधानसभा

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डा. चरणदास महंत और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के कार्यकाल का तीन साल मंगलवार को पूरा हुआ। तीन साल की उपलब्धियों पर विधानसभा अध्यक्ष डा. महंत ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, संत कबीर, संत गुरु घासीदास और अपने पुरखों की भावनाओं के अनुरूप उनका यह सदैव प्रयास रहा कि सदन की गरिमा बरकरार रहे।

उन्होंने सदैव कबीर के ना काहू से दोस्ती, ना काहू से बैर के सिद्धांत को सदन के संचालन में अपना मूल वाक्य बनाया है। उनका यह प्रयास होगा कि छत्तीसगढ़ विधानसभा अपनी प्रक्रिया, परंपरा एवं कार्य संचालन में पूरे देश में ही नहीं वरन विदेशों में भी अपनी विशिष्ट पहचान बनाए।

उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि सदन में पक्ष एवं विपक्ष की चर्चा में समय प्रबंधन अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। सदन में महत्वपूर्ण प्रतिवेदनों पर सारगर्भित चर्चा होनी चाहिए। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि छत्तीसगढ़ विधानसभा निरंतर सफलता के नए सोपानों को सृजित कर रही है। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि आने वाले समय में भी विधानसभा गरिमापूर्ण आयोजन में सफल होगा। प्रमुख सचिव चंद्रशेखर गंगराड़े ने कहा कि विधाानसभा अध्यक्ष डा. चरणदास महंत के तीन वर्ष के कार्यकाल में छत्तीसगढ़ विधानसभा ने राष्ट्रीय स्तर पर विकास के नए आयाम तय किए। उनके नेतृत्व में यह प्रक्रिया जारी रहेगी।

कम संख्या बल के बावजूद दिखे विपक्ष के तेवर

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के कार्यकाल का भी तीन साल पूरा हुआ। कौशिक ने कहा कि सदन में जनता के मुद्दों को रखना प्राथमिकता थी। धान खरीदी से लेकर किसानों, कर्मचारियों के मुद्दों को प्रमुखता से उठाया गया। सदन में सख्या बल कम था, लेकिन विपक्ष के तेवर कमजोर नहीं हुए। भाजपा के विधायकों की एकजुटता ने सरकार को कई मौकों पर असमंजस की स्थिति में डाल दिया। भविष्य में भी जनता के मुद्दे को तीखे तेवर के साथ उठाया जाएगा

विधानसभा के वार्षिक कैलेंडर का विमोचन

छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डा. चरणदास महंत ने विधानसभा के वर्ष 2022 के कैलंेडर का विमोचन किया। इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, सांसद ज्योत्सना महंत, विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी, विधानसभा के प्रमुख सचिव चंद्रशेखर गंगराडे सहित मंत्री, विधायक और संसदीय सचिव मौजूद थे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.