Logo
ब्रेकिंग
मुख्यमंत्री ने ललित भवन में स्व० ललित नारायण मिश्र जी की प्रतिमा का किया अनावरण मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव मुख्यमंत्री ने लोहिया पथ चक्र के निर्माण कार्य की प्रगति का किया निरीक्षण आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार... ठोस क्रियान्वयन के लिए निरंतर सत्यापन किया जाए : राज्यपाल पटेल मध्य प्रदेश में कलेक्टर-कमिश्नर कान्फ्रेंस शुरू, सीएम शिवराज कर रहे अधिकारियों से बात बजट सत्र को लेकर सर्वदलीय बैठक जारी, कांग्रेस से कोई नहीं पहुंचा

फरार पूर्व सांसद धनंजय सिंह मामले पर बोले DGP – जांच के बाद होगी कार्रवाई

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने फरार चल रहे उत्तर प्रदेश के पूर्व बाहुबली सांसद धनंजय सिंह का क्रिकेट खेलते वायरल हुए एक वीडियो पर सवाल उठाते हुए कहा है कि फरार बाहुबली को सत्ता का संरक्षण मिलने के कारण गिरफ्तारी नहीं हो पा रही है। वहीं इस मामले में उठे सवाल पर यूपी डीजीपी मुकुल गोयल ने कहा मामले संज्ञान की जांच की जाएगी। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ समय से जौनपुर के बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह कुछ लड़कों के साथ क्रिकेट खेलते नजर आ रहे हैं। सिंह, हत्या के एक मामले में सात महीने से फरार हैं। मऊ के ब्लॉक प्रमुख के प्रतिनिधि की पिछले साल जनवरी में हुयी हत्या के मामले में वांछित है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने सिंह पर 25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित कर रखा है।  सपा ने सोशल मीडिया पर यह वीडियो साझा करते हुये कहा, ‘‘फर्क साफ है।

मुख्यमंत्री से जुड़े माफिया ‘खेल’ रहे क्रिकेट। 25000 के इनामी माफिया धनंजय सिंह सत्ता के संरक्षण में पुलिस की नाक के नीचे ले रहे खुले आसमान के नीचे खेल का मजा। ‘डबल इंजन’ सरकार के बुलडोजर को नहीं मालूम इनका पता। जनता सब देख रही, बाईस में भाजपा साफ।”   इसके कुछ घंटे बाद अखिलेश ने ट्वीट कर कहा, ‘‘भाजपा का काम, अपराधी सरेआम। बाबा जी अपने करीबी नालबद्ध माफियाओं के टॉप टेन की सूची बनाकर एक टीम बना लें और आईपीएल की तरह एक ‘एमबीएल’ मतलब ‘माफिया भाजपा लीग’ शुरू कर दें। शहर के पुलिस कप्तान तो उनके लिए पिच बिछाए बैठे ही हैं और टीम कप्तान वो ख़ुद हैं ही। हो गए पूरे ग्यारह।”   उल्लेखनीय है कि बसपा से जौनपुर के सांसद रहे धनंजय सिंह का नाम हत्या के मामले में पुलिस द्वारा गत वर्ष अप्रैल में वांछित घोषित किया गया था। वह जौनपुर के निर्दलीय विधायक भी रह चुके हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.