Logo
ब्रेकिंग
चीकू की खेती से होगी 5 लाख रुपये तक की कमाई केजरीवाल ने कांग्रेस को हराने के लिए शराब घोटाला किया : अजय माकन बीएमसी बजट 2023-24 - मुंबई के इन पांच जगहो पर लगेंगे एयर प्यूरीफायर ! उद्योग में तकनीकी उन्नयन के लिए एनर्जी बॉन्ड जारी करने पर विचार कर रहा पाकिस्तान मा0 अध्यक्ष जिला पंचायत ने महामाया राजकीय महाविद्यालय भिट्टी में ’’वार्षिक क्रीडा प्रतियोगिता’’ का क... भोपाल-इंदौर में लोकसभा चुनाव से पहले दौड़ेगी भोपाल मेट्रो  छावला गैंगरेप मामले में बरी हुआ शख्स और उसका दोस्त हत्या के आरोप में गिरफ्तार व्यक्ति को जमीन पर गिराकर मारने का VIDEO....दो दिन पूर्व का बताया जा रहा, शराब के नशे में था पीड़ित जल्द शुरू होने वाला है दीघा रेलवे स्टेशन, सेंट्रल रेलवे ने पूरी की तैयारी हिंदुओं के हाथ से अगरबत्ती छुड़ाकर मोमबत्ती थमाने के चल रहे प्रयास

पप्पू यादव बोले- कोरोना से लड़ाई में गंभीरता दिखाए सरकार, पटना एनएमसीएच के कोविड वार्ड का किया निरीक्षण

पटना। बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण (CoronaVirus Infection) की रफ्तार लगातार तेज हो रही है। संक्रमण बढ़ने के साथ राज्‍य के कोविड अस्‍पतालों (COVID Hospitals) में मरीजों का आना भी जारी है। इस बीच जन अधिकार पार्टी (JAP) के अध्‍यक्ष एवं मधेपुरा के पूर्व सासंद पप्‍पू यादव (Pappu Yadav) ने पटना के नालंदा मेडिकल कालेज एवं अस्‍पताल (NMCH, Patna) पहुंचकर कोरोना के मरीजों का (Corona Patients) हाल जाना। साथ ही अस्पताल प्रबंधन से कोरोना के इलाज की तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने कोरोना पीड़ितों को  हर संभव सहायता देने का आश्वासन देते हुए कहा कि उनकी पार्टी अपनी पूरी ताकत के साथ मरीजों के लिए आक्‍सीजन और दवा की व्यवस्था करेगी। पाप्पू यादव ने कहा कि सरकार को कोरोना से लड़ाई में अपनी गंभीर प्रतिबद्धता दिखानी चाहिए।

अधिकारियों और माफियाओं के लिए लूट का माध्यम बना कोरोना

पप्‍पू यादव ने कहा कि सरकारी अधिकारियों और अस्पताल माफियाओं के लिए कोरोना लूट का माध्यम बन गया है। वे लोगों की मजबूरी का फायदा उठा रहे हैं। उनसे सतर्क रहने की जरूरत है। आज जरूरत सेवादारी की है। पप्‍पू यादव ने कहा कि हमें कोरोना से डरना नहीं, उससे लड़ना सीखना होगा। सरकार और अस्पताल माफिया,  यहां लोगों को डरा रहे हैं।

बंद किए जा रहे कामकाज, लाकडाउन छीन रहा रोजगार

पप्‍पू सादव ने कहा कि बिहार और देश की जनता को अगर कोरोना से ज्यादा दिक्कत न हो तो अस्पताल जाने से बचना चाहिए। कहा कि कोरोना से पहले भी कई बीमारियां रहीं हैं। फ्लू (Flu), टीबी (TB), कैंसर (Cancer) जैसी भी बीमारियां पहले से रही हैं। लेकिन कोरोना का डर दिखाकर तमाम काम-काज बंद किए जा रहे हैं। लाकडाउन (Lockdown) के नाम पर गरीब लोगों की रोटियां छीनी जा रही हैं। अगर इस तरह के हालात बने रहे तो कोरोना से ज्यादा तो लोग बेरोजगारी, भूखमरी से अपनी जान दे देंगे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.