Logo
ब्रेकिंग
अमित शाह कल करेंगे चुनावी राज्य कर्नाटक का दौरा अपनी छोड़ सारे जहां की चिंता कर भोपाल के विद्यार्थी ने जीता पीएम मोदी का मन दिल्ली में न्यूनतम तापमान 6.1 डिग्री सेल्सियस, वायु गुणवत्ता ‘खराब' श्रेणी में बजट से पूर्व भारत को US फार्मा उद्योग की सलाह- दवा क्षेत्र के लिए बनाए अनुसंधान एवं विकास नीति Corona Update: भारत में दम तोड़ रहा कोरोना, 24 घंटे में 100 से भी कम नए केस सड़क का खंबा नहीं होता तो अंधगति से आ रहे ट्रक थाना मोबाइल को ठोकता हुआ अंदर होता, cctv में दिखा कैसे... MP: मुरैना में बड़ा हादसा, वायुसेना का सुखोई-30 और मिराज हुए क्रैश सूरत के उधना इलाके में कार शोरूम में लगी भीषण आग रूठों को मनाने के लिए कांग्रेस चलाएगी घर वापसी अभियान ‘मूड ऑफ दि नेशन सर्वे’ में बजा CM योगी का डंका, 39.1 फीसदी लोगों ने माना बेस्ट परफॉर्मिंग चीफ मिनिस्...

जिलाधिकारी ने जल एवं स्वच्छता समिति की बैठक का आयोजन किया।

जहानाबाद ! जिला पदाधिकारी सह अध्यक्ष जिला जल एवं स्वच्छता समिति, हिमांशु कुमार राय की अध्यक्षता में लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन ओडीएफ प्लस विषय पर जिला स्तरीय एक दिवसीय उन्मुखीकरण सह कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसका शुभारंभ दीप प्रज्वलन कर किया गया। इस अवसर पर निदेशक डीआरडीए सह सचिव जिला जल एवं स्वच्छता समिति पंकज कुमार घोष द्वारा ओडीएफ प्लस के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। इस क्रम में सिविल सर्जन द्वारा स्वच्छता पर ध्यान नहीं दिए जाने से जनित होने वाली बीमारियों के बारे में परिचर्चा की गई तथा गंदे पानी के जमाव से मलेरिया,डेंगू, फाइलेरिया इत्यादि बीमारियों एवं ओरल फिकल रूट के माध्यम से जनित होने वाले पोलियो, डायरिया, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल बीमारी इत्यादि के बारे में बताया गया। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त अरविंद मंडल द्वारा बताया गया कि ओडीएफ प्लस अंतर्गत 25 पंचायत को चिन्हित करते हुए कार्य योजना बनाया गया है।
जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि प्रत्येक शनिवार को विद्यार्थियों को 01 घंटे साफ सफाई संबंधित शिक्षा उपलब्ध कराई जाए। इसके साथ ही जहानाबाद जिले में उपलब्ध पानी की गुणवत्ता की जांच कराने हेतु निर्देशित किया गया। कार्यपालक पदाधिकारी नगर परिषद को वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट के संस्थापन से संबंधित आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया। इसके साथ ही जिला पंचायती राज पदाधिकारी को मुखियागणों एवं वार्ड सदस्यों को इस विषय पर प्रशिक्षण सह उन्मुखीकरण कार्यक्रम आयोजित करने का भी निर्देश दिया। इस अवसर पर जिला सलाहकार ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन श्री पिंकू कुमार द्वारा बताया गया कि योजना के सफल संचालन हेतु विभिन्न प्रकार के विभागों जैसे मनरेगा, कृषि, जीविका, पंचायती राज एवं अन्य डेवलपमेंट पार्टनर के साथ अभिसरण किया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.