48 घंटे में मुंगेर से खगड़िया तक छापेमारी, नहीं हुई एक भी गिरफ्तारी, किसान राजेश हत्याकांड की स्पेशल टीम के हाथ खाली

मुंगेर : किसान राजेश हत्याकांड मामले में पुलिस के हाथ अब तक खाली हैं। मुफस्सिल थाना क्षेत्र के टीकारापुर पंचायत स्थति बुद्धन मरड़ टोला के रहने वाला किसान की हत्या बदमशाें ने आठ गाेली मारकर की थी। हत्या के बाद पुलिस ने मामले को जल्द सुलझाने का भरोसा दिया था, लेकिन घटना के 48 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस इस हत्याकांड में किसी भी हत्यारे को न तो गिरफ्तर कर सकी है और इसका पर्दाफाश किया है। हत्या को लेकर ग्रामीणों व परिवार वालों में आक्रोश है। हत्याकांड के लिए गठित विशेष टीम ने मुंगेर से खगड़िया तक छापेमारी की, पर नतीजा शून्य निकला। अभी भी हत्यारे गिरफ्त से बाहर हैं।

यहां बता दें कि शुक्रवार की देर शाम हथियार बंद एक दर्जन से ज्यादा बदमाशों ने किसान राजेश कुमार यादव को गोलियों से भून दिया था, हत्यारों ने राजेश को आठ गोलियां मारी थी। राजेश की मौत मौके पर हो गई। घटनास्थल से पुलिस ने एक देशी कट्टा और खोखा भी बरामद किया था। शव का पोस्टमार्टम खगड़िया में हुआ। ऐसे में इस केस में मुंगेर और खगड़िया के साथ मिलकर काम कर रही है।

एक माह बाद भी गिरफ्त से बाहर सुनील राय

मुफस्सिल थाना क्षेत्र टीकारमपुर दियारे में सात नंबवर को हुई गोलीबारी मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। इस मामले में सुनील राय सहित 10 पर मुकदमा दर्ज किया है। एक माह बाद भी इस मामले में किसी की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हुई है। पुलिस सिर्फ दावा करती है, पर कार्रवाई शून्य दिख रही है। यहां के लोग आज भी घटना को लेकर दशहत में है। पुलिस सिर्फ छापेमारी और जल्द गिरफ्तारी की बात कर रही है।

अंडर ग्राउंड हो गए हत्यारे

पुलिस हत्याकांड में शामिल हत्यारों की गिरफ्तारी की लाख दावा कर रही हो, पर हकीकत यह है कि सभी हत्यारे अंडर ग्राउंड हैं। रविवार को भी पुलिस ने बुद्धन मरड़ सहित कई इलाकों में छापेमारी भी की। लेकिन, एक भी हत्यारे पकड़े नहीं गए। मुफस्सिल थानाध्यक्ष काैशलेंद्र कुमार ने बताया कि हत्याकांड में शामिल सभी बदमाश जल्द ही हिरासत में होंगे। विशेष टीम गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है।

16 नामजद कहां गए, पता लगाने में छूट रहा पसीना

मुफस्सिल थाना क्षेत्र के टीकारापुर पंचायत स्थित बुद्धनमरड़ टोला के किसान राजेश कुमार यादव की हत्या बदमाशों ने रंगदारी नहीं देने और वर्चस्व कायम करने के लिए की थी। दहशत फैलाने के लिए हवाई फायरिंग भी की। भाई के बयान पर 16 लोगों को नामजद किया गया है। घटना के दो दिन बीत जाने के बाद भी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। पुलिस ने बताया कि हत्यारे गांव के ही हैं। पुलिस दियारा इलाके में लगातार छापेमारी कर रही है। सभी हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए कई जगहों पर छापेमारी भी गई है। हत्यारे तक पुलिस के हाथ नहीं पहुंची है। पुलिस हत्या मामले का हर एंगल से जांच कर रही है। कई लोगों से पुलिस ने पूछताछ भी की है। पुलिसिया जांच में रंगदारी और वर्चस्व कायम की बात सामने आ रही हैं, पुलिस इसे लीड मानकर चल रही है।

पुलिस का दावा जल्द उठेगा पर्दा

पुलिस का दावा है कि हत्याकांड से जल्द ही पर्दा उठ जाएगा। पूरे मामले का पर्दाफाश कर दिया जाएगा। पड़ोसी खगड़िया जिले की पुलिस से भी मुंगेर पुलिस मदद ली जा रही है। राजेश यादव की मौत के बाद गांव के लोगों में आक्रोश है। फिर से कोई बड़ी घटना न हो इसके लिए टीकारामपुर पुलिस पिकेट की फोर्स सतर्क है। मुफस्सिल थानाध्यक्ष कौशलेंद्र कुमार ने बताया कि घटना के बाद पुलिस पूरी तरह अलर्ट मोड पर है। हर गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

ब्रेकिंग
जहानाबाद दोहरे हत्याकांड में सात आरोपियों को सश्रम आजीवन कारावास डोनियर ग्रुप ने लॉन्च किया ‘नियो स्ट्रेच # फ़्रीडम टू मूव’: एक ग्रैंड म्यूज़िकल जिसमें दिखेंगे टाइगर श... छात्र-छात्राओं में विज्ञान के प्रति रुचि जागृत करने हेतु मनी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस राबड़ी, मीसा, हेमा यादव के खिलाफ ईडी के पास पुख्ता सबूत, कोई बच नहीं सकता “समान नागरिक संहिता” उत्तराखंड में लागू - अब देश में लागू होने की बारी नगरनौसा हाई स्कूल के मैदान में प्रखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का हुआ आयोजन पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को दिलाया पांच‌ प्रण बिहार में समावेशी शिक्षा के तहत दिव्यांग बच्चों को नहीं मिल रहा लाभ : राधिका जिला पदाधिकारी ने रोटी बनाने की मशीन एवं अन्य सामग्री उपलब्ध कराया कटिहार में आरपीएफ ने सुरक्षा सम्मेलन किया आयोजित -आरपीएफ अपराध नियंत्रण में जागरूक करने के प्रयास सफ...