Logo
ब्रेकिंग
आयुष्मान खुराना का नाम मुंबई की बजाय पंजाब टीम में है शामिल फैजल खान ने डांस-एक्टिंग से बदली घरवालों की किस्मत अब रॉकी भाई 'रावण' के किरदार में नजर आएंगे, फिल्ममेकर ने अगली मूवी के लिए किया अप्रोच भूकंप से कांप गई पाकिस्तान की धरती  शिवराज ने कांग्रेस का वचन पत्र दिखाकर पूछा सवाल मप्र में बनाए जाएंगे 15 गोवंश वन्य विहार वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बड़ा ऐलान- अब 7 लाख तक की इनकम वालों को नहीं देना होगा कोई टैक्स मुआवजा लेकर भाजपा कार्यालय के 44 दुकानदारों ने खाली की दुकानें उज्जैन में खेलो इंडिया यूथ गेम्स में योग प्रतियोगिता शुरू अमृतकाल के दौरान प्रौद्योगिकी-चालित और ज्ञान-आधारित तंत्र के माध्यम से सुधारों पर बहु-क्षेत्रीय ध्या...

कानपुर के जैन पर भारी MP का शराब कारोबारी! 200 लोगों की टीम 5 मशीनों से गिन रही कैश, पानी की टंकी में मिले 3 करोड़

दमोह: मध्य प्रदेश के दमोह में शराब, परिवहन और होटल कारोबारी भाईयों पर आयकर विभाग ने बड़ी कार्रवाई की। गुरुवार सुबह पांच बजे 40 गाड़ियों के साथ आयकर विभाग रेड के लिए पहुंचा तो दमोह में हड़कंप मच गया। आईटी टीम ने 200 अधिकारियों के साथ कारोबारियों के सभी ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की। इस दौरान अधिकारियों को बड़ी कामयाबी मिली हालांकि रात 11 बजे तक कोई भी अधिकारी कुछ भी कहने को तैयार नहीं है। हालांकि सूत्रों की मानें तो कारोबारियों के पास से साढ़े 6 करोड़ रुपए कैश और करोड़ों रुपए के जेवर मिले हैं।

दमोह के राय ब्रदर्स कई तरह के कारोबार करते हैं। शराब, होटल, पेट्रोल पंप और परिवहन इनमें से मुख्य काम हैं। सूत्रों की मानें तो राय भाई सूदखोरी का काम भी करते हैं और लोगों को ब्याज पर पैसे देते हैं। जरुरतमंद लोग पैसों के बदले जमीन जायदाद और कागजाद गिरवी रखते हैं। शंकर राय और कमलराय दमोह के दो बड़े नाम हैं। शंकर राय कांग्रेस के बड़े नेता हैं और नगरपालिका के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। वहीं, भाई कमल राय बीजेपी के नेता हैं।

आयकर विभाग की रेड से परिवार में हड़कंप मचा हुआ है। छापेमारी में शंकर राय के भाई संजय राय के पास से तीन करोड़ और कमल राय के पास से ढाई करोड़ रुपए मिले। वहीं, राय ब्रदर्स ने बैग में भरकर तीन करोड़ से अधिक की राशि पानी टंकी के अंदर छिपा रखे थे। परिवार के पास से तीन करोड़ से अधिक के जेवरात मिले हैं। कार्रवाई से परिवार में अफरातफरी का माहौल है इसी दौरान राजू राय की पत्नी की तबीयत बिगड़ गई। उसे इलाज के लिए नागपुर ले जाना पड़ा।

बताया जा रहा हैकि परिवार के लोगों ने रेड की भनक लगते ही नोटों की गड्डियों को आग लगा दी। हालांकि अधिकारियों के रुपए अपने कब्जे में ले लिए। इस दौरान कई राय ब्रदर्स के समर्थकों ने भी हंगामा किया और कार्यवाही में बाधा डाली। शंकर राय के ठिकानों पर छापेमारी के लिए आयकर विभाग के 200 लोग पहुंच थे।

रेड में अधिकारियों को साढ़े 3 करोड़ रुपये मिले सारी रकम अलग-अलग ठिकानों से मिले हैं। नोटों की गिनती के लिए पांच अलग-अलग बैकों से मशीनें मंगवाई गईं। रुपए रखने के लिए दो बक्से भी बाहर से मंगवाने पड़े। आयकर विभाग की टीम का नेतृत्व अपर आयुक्त मुनमुन शर्मा कर रही हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.