Logo
ब्रेकिंग
चीकू की खेती से होगी 5 लाख रुपये तक की कमाई केजरीवाल ने कांग्रेस को हराने के लिए शराब घोटाला किया : अजय माकन बीएमसी बजट 2023-24 - मुंबई के इन पांच जगहो पर लगेंगे एयर प्यूरीफायर ! उद्योग में तकनीकी उन्नयन के लिए एनर्जी बॉन्ड जारी करने पर विचार कर रहा पाकिस्तान मा0 अध्यक्ष जिला पंचायत ने महामाया राजकीय महाविद्यालय भिट्टी में ’’वार्षिक क्रीडा प्रतियोगिता’’ का क... भोपाल-इंदौर में लोकसभा चुनाव से पहले दौड़ेगी भोपाल मेट्रो  छावला गैंगरेप मामले में बरी हुआ शख्स और उसका दोस्त हत्या के आरोप में गिरफ्तार व्यक्ति को जमीन पर गिराकर मारने का VIDEO....दो दिन पूर्व का बताया जा रहा, शराब के नशे में था पीड़ित जल्द शुरू होने वाला है दीघा रेलवे स्टेशन, सेंट्रल रेलवे ने पूरी की तैयारी हिंदुओं के हाथ से अगरबत्ती छुड़ाकर मोमबत्ती थमाने के चल रहे प्रयास

देश में आज समाधान परक पत्रकारिता की जरूरत: प्रो. संजय द्विवेदी

नई दिल्ली । वर्तमान परिस्थितियों के हिसाब से आज देश में समाधान परक पत्रकारिता की जरूरत है । पश्चिमी देशों में नकारात्मक खबरों को प्रमुखता से स्थान दिया जाता रहा है जिसका अनुसरण भारतीय मीडिया ने भी किया है । हमारे देश में शास्त्रार्थ करके किसी समस्या का समाधान निकालने की परंपरा रही है । हमारी संस्कृति में वेद-ग्रंथों में और संत परंपरा में समस्या से ज्यादा समाधान पर फोकस किया जाता रहा है । इसलिए समाज में बदलाव और समृद्ध भारत के स्वप्न को साकार करने के लिए मीडिया को प्रमुखता से अपनी जिम्मेदारी निभाना होगी । मीडिया समाचारों में समस्या के साथ समाधान पर भी बात करे । इससे बेहतर समाज का निर्माण हो सकेगा ।
उक्त उद्गार नई दिल्ली स्थित भारतीय जनसंचार संस्थान के निदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने कही । वह ब्रह्माकुमारीज की सहयोगी संस्था राजयोग एजुकेशन एंड रिसर्च फाउंडेशन के मीडिया विंग द्वारा शांतिवन के सरस्वती भवन में आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय मीडिया ट्रेनिंग को ऑनलाइन संबोधित कर रहे थे । ट्रेनिंग के दूसरे दिन मीडिया विंग के तहत देशभर में होने वाली सभा, सम्मेलन, संगोष्ठी आदि कार्यक्रमों की राष्ट्रीय लांचिंग की गई ।
इस दौरान मीडिया विंग के अध्यक्ष बीके करुणा भाई ने कहा कि ब्रह्माकुमारीज संस्थान स्थापना के समय से ही एक विश्व, एक ईश्वर, एक परिवार की थीम के साथ कार्य कर रही है । मीडिया में जनमानस और समाज का नजरिया, सोच बदलने की ताकत है । वर्षभर चलने वाले इस अभियान के तहत पत्रकारों को समाधान परक पत्रकारिता की ओर से अग्रसर करने में हमारा प्रयास रहेगा ।
संस्थान के कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय भाई ने कहा कि मीडिया में वह शक्ति है कि वह नकारात्मक को सकारात्मक और सकारात्मक को नकारात्मक रूप में पेश कर सकता है । जब कोई एक चीज मीडिया के विभिन्न माध्यमों से बार-बार दिखाई जाती है तो उस हिसाब से व्यक्ति के दृष्टिकोण बनने लगता है । इसलिए आज मीडिया को चाहिए कि वह ज्यादा से ज्यादा सकारात्मक और समाज को दिशा देने वाली खबरों को दिखाया जाएगा । मीडिया विंग के उपाध्यक्ष बीके आत्म प्रकाश भाई ने अपने जीवन का अनुभव बताते हुए कहा कि जो बातें आज से वर्षों पहले बाबा ने कहीं थी आज वह प्रैक्टिकल में हमारे सामने आ रही हैं इसलिए सभी भाई-बहन अपनी योग-तपस्या को निरंतर बढ़ाते रहें।
वही माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. केजी सुरेश ने ऑनलाइन संबोधित करते हुए कहा कि ब्रह्माकुमारीज के मीडिया विंग ने जो समाधान परक पत्रकारिता का बीड़ा उठाया है उसमें विश्वविद्यालय परिवार पूरे मनोभाव से साथ खड़ा है । हम सभी मिलकर मीडिया हाऊस, पत्रकार संगठन आदि में कार्यक्रमों के जरिए उक्त विषय पर चिंतन-मनन और प्रशिक्षण कार्य करेंगे।
मीडिया विंग के नेशनल को-ऑर्डिनेटर बीके सुशांत भाई ने इस वर्ष की थीम पर प्रकाश डाला । मीडिया विंग के मुख्यालय समन्वयक बीके शांतनु भाई ने कहा कि यहां से प्रशिक्षण लेकर आप सभी अपने-अपने कार्यक्षेत्र में सभा, सम्मेलन और गोष्ठीयों का आयोजन करें । साथ ही पत्रकारों को उपरोक्त विषय पर कार्य करने के लिए प्रेरित करें । संस्थान के पीआरओ बीके कोमल ने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की रिपोर्टिंग संबंधी टिप्स बताए । संचालन बीके विवेक एवं बीके चंदा बहन ने किया । ओम शांति पत्रिका के संपादक बीके गंगाधर भाई को डॉक्टरेट की मानद उपाधि मिलने पर विशेष रूप से सम्मानित किया गया । इस मौके मीडिया विंग में वर्षों से सेवाएं दे रहे वरिष्ठ पदाधिकारियों बीके पूनम सहित अन्य का अतिथियों ने शॉल-माला और स्मृति चिंह्न भेंटकर सम्मान किया

Leave A Reply

Your email address will not be published.