सबसे बड़ी लूट, बाकरगंज सोना डकैती कांड का हुआ खुलासा

पटना: बाकरगंज लूटकांड मामले का खुलासा पटना पुलिस ने किया है। पटना एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि बाकरगंज में एसएस ज्वेलर्स में हुई लूट का उद्भेदन पटना पुलिस ने 72 घंटे के भीतर कर लिया है। इस मामले में 5 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। एसएस ज्वेलर्स में लूट की बड़ी वारदात को अंजाम देने के बाद सभी फरार थे। जिसे पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस ने 9 किलो सोना और 4 लाख 32 हजार रुपये कैश बरामद किया है। हालांकि एसएस ज्वेलर्स के मालिक ने 35 किलो सोना और 14 लाख रुपये कैश लूटे जाने की बात कही थी। बता दें कि बाकरगंज लूटकांड का कोडवड ‘एक गिलास पानी” था।बता दें कि डकैती के दिन ही जहानाबाद के साधु यादव को मौके से पकड़ा गया था। जबकि आकाश ओझा, सोनू, राजू केवट और नीतेश घटना के बाद फरार हो गया था। पुलिस ने सभी अपराधियों को गिरफ्तार किया है। नीतेश जहानाबाद का रहने वाला है। वही राजेश राम उर्फ साधु धनगांवा जहानाबाद का रहने वाला है। आकाश ओझा उर्फ सनी गोपालपुर, सोनू जगनपुरा, राजू केवट उर्फ राज उर्फ सोनू उर्फ रवि मल्हचक कुटिया जहानाबाद, नितेश नया टोला थाना जहानाबाद का रहने वाला है।जहानाबाद स्थित राज लक्ष्मी ज्वेलर्स के मालिक रंजीत प्रसाद के बेटे नीतेश इस लूटकांड का मास्टरमाइंड था। वह अक्सर सोने चांदी की खरीदारी के लिए पटना आया करता था। इसी दौरान एक महीने पहले ही उसने लूट की योजना बनाई थी। नीतेश नशेड़ी था और उसे स्मैक पीने की लत लग गई थी। नशा करने के दौरान ही वह चार अपराधियों के संपर्क में आया। और साथ नशा करने लगा। इसी दौरान एसएस ज्वेलर्स को लूटने की योजना बनाई गई। लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए दो बार दुकान की रेकी की गई थी।पुलिस ने कोतवाली थाना से चोरी हुआ फॉर्चूनर भी बरामद किया है। जिसमें भारत सरकार एवं अशोक स्तंभ का प्रतीक चिन्ह लगा हुआ है। साथ ही 5 बाइक, एक कट्टा, दो पिस्टल, जिंदा कारतूस, मोबाइल जब्त किया गया है। वही 9 किलो सोना और 4 लाख 32 हजार रुपये नकद बरामद किया गया है। इसे लेकर नगर पुलिस अधीक्षक मध्य पटना के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया था। जिसमें पुलिस उपाधीक्षक नगर, थानाध्यक्ष कदमकुआं एवं अन्य पुलिसकर्मी भी शामिल थे।
गिरफ्तार अपराधियों में जहानाबाद के धनगावां निवासी राजेश राम उर्फ साधु को पुलिस ने घटना के दिन ही पकड़ा था। उससे जब पुलिस ने पूछताछ की तब अन्य सदस्यों को गिरफ्तार किया गया। साधु पूर्व में कई बार जेल जा चुका है। वही जिन चार को पुलिस ने पकड़ा है वे सभी भी पूर्व में जेल जा चुके है और पेशेवर लुटेरे है। बाकरगंज लूटकांड का कोडवड एक गिलास पानी था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

ब्रेकिंग
जहानाबाद दोहरे हत्याकांड में सात आरोपियों को सश्रम आजीवन कारावास डोनियर ग्रुप ने लॉन्च किया ‘नियो स्ट्रेच # फ़्रीडम टू मूव’: एक ग्रैंड म्यूज़िकल जिसमें दिखेंगे टाइगर श... छात्र-छात्राओं में विज्ञान के प्रति रुचि जागृत करने हेतु मनी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस राबड़ी, मीसा, हेमा यादव के खिलाफ ईडी के पास पुख्ता सबूत, कोई बच नहीं सकता “समान नागरिक संहिता” उत्तराखंड में लागू - अब देश में लागू होने की बारी नगरनौसा हाई स्कूल के मैदान में प्रखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का हुआ आयोजन पुलिस अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को दिलाया पांच‌ प्रण बिहार में समावेशी शिक्षा के तहत दिव्यांग बच्चों को नहीं मिल रहा लाभ : राधिका जिला पदाधिकारी ने रोटी बनाने की मशीन एवं अन्य सामग्री उपलब्ध कराया कटिहार में आरपीएफ ने सुरक्षा सम्मेलन किया आयोजित -आरपीएफ अपराध नियंत्रण में जागरूक करने के प्रयास सफ...