Logo
ब्रेकिंग
चीकू की खेती से होगी 5 लाख रुपये तक की कमाई केजरीवाल ने कांग्रेस को हराने के लिए शराब घोटाला किया : अजय माकन बीएमसी बजट 2023-24 - मुंबई के इन पांच जगहो पर लगेंगे एयर प्यूरीफायर ! उद्योग में तकनीकी उन्नयन के लिए एनर्जी बॉन्ड जारी करने पर विचार कर रहा पाकिस्तान मा0 अध्यक्ष जिला पंचायत ने महामाया राजकीय महाविद्यालय भिट्टी में ’’वार्षिक क्रीडा प्रतियोगिता’’ का क... भोपाल-इंदौर में लोकसभा चुनाव से पहले दौड़ेगी भोपाल मेट्रो  छावला गैंगरेप मामले में बरी हुआ शख्स और उसका दोस्त हत्या के आरोप में गिरफ्तार व्यक्ति को जमीन पर गिराकर मारने का VIDEO....दो दिन पूर्व का बताया जा रहा, शराब के नशे में था पीड़ित जल्द शुरू होने वाला है दीघा रेलवे स्टेशन, सेंट्रल रेलवे ने पूरी की तैयारी हिंदुओं के हाथ से अगरबत्ती छुड़ाकर मोमबत्ती थमाने के चल रहे प्रयास

उज्बेकिस्तान को चेतावनी, कहा अफगान विमान वापस करें या परिणाम भुगतने को तैयार रहें

काबुल। तालिबान ने ताजिकिस्तान, उज्बेकिस्तान को चेतावनी दे डाली है। तालिबान के कार्यवाहक रक्षा मंत्री मावलवी मोहम्मद याकूब मुजाहिद ने मंगलवार बड़ा बयान दिया, जिसमें कहा गया कि

ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान को अफगान विमान वापस करना होगा, नहीं तो वें परिणाम भुगतने को तैयार रहें।

काबुल के एक समारोह में दिया गया बयान

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, काबुल के एक समारोह में जहां वायु सेना का अभ्यास भी चल रहा था, उस में बोलते हुए तालिबान के कार्यवाहक रक्षा मंत्री मावलवी मोहम्मद याकूब मुजाहिद ने कहा कि जो सैन्य विमान विदेश ले गए थे, अब समय आ गया है कि उन्हें वापस कर दिया जाना चाहिए।

मुजाहिद ने दी चेतावनी

मुजाहिद ने खुली चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जिन देशों ने सैन्य विमान ले लिए हैं, उन्होंने उन्हें वापस नहीं किया, तो उन्हें इसका परिणाम भुगतना होगा। मुजाहिद ने कहा, ‘हमारे विमान जो ताजिकिस्तान या उज्बेकिस्तान में मौजूद हैं उन्हें जल्द से जल्द वापस किया जाना चाहिए, हम इन विमानों को विदेश में रहने या उन देशों द्वारा इस्तेमाल किए जाने की अनुमति नहीं देंगे।’

आपको बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद हालात तितर-बितर हो गए थे। सैकड़ों लोग अपना देश और अन्य देशों की ओर भाग रहे थे।

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, कार्यवाहक रक्षा मंत्री ने कहा कि वे किसी भी देश को अफगानिस्तान से निकाले गए अफगान सैन्य विमानों का उपयोग करने की अनुमति नहीं देंगे। तालिबान रक्षा मंत्रालय ने कहा कि पूर्व सरकार के पतन के बाद, 40 से अधिक हेलीकाप्टरों को देश के बाहर उज़्बेकिस्तान और ताजिकिस्तान ले जाया गया।

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, तालिबान कार्यवाहक रक्षा मंत्री ने कहा, ‘हमारी भविष्य की वायु सेना किसी भी देश पर निर्भर नहीं होगी।’

रिपोर्टों के अनुसार, अफगानिस्तान में पूर्व सरकार में तालिबानियों के कब्जे से पहले, 164 से अधिक सक्रिय सैन्य विमान थे और जो अब तालिबान सत्ता में केवल 81 बचें हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.