Logo
ब्रेकिंग
शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता मुख्यमंत्री ने ललित भवन में स्व० ललित नारायण मिश्र जी की प्रतिमा का किया अनावरण मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव मुख्यमंत्री ने लोहिया पथ चक्र के निर्माण कार्य की प्रगति का किया निरीक्षण आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार... ठोस क्रियान्वयन के लिए निरंतर सत्यापन किया जाए : राज्यपाल पटेल मध्य प्रदेश में कलेक्टर-कमिश्नर कान्फ्रेंस शुरू, सीएम शिवराज कर रहे अधिकारियों से बात

गणतंत्र दिवस परेड के लिए तैयार उत्तराखंड की झांकी का प्रदर्शन, अंतिम हिस्से में दर्शाया गया बद्रीनाथ धाम

नई दिल्ली/देहरादूनः गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने वाली उत्तराखंड की झांकी का यहां भव्य प्रदर्शन किया गया, जिसमें चारधाम ऑल वेदर रोड, टिहरी बांध पर डोबरा चांठी मे बने सस्पेंशन पुल जैसे विकास कार्यों के साथ ही झांकी के अग्र भाग पर हेमकुंड साहिब और अंतिम हिस्से में बद्रीनाथ धाम को दर्शाया गया है।

रक्षा मंत्रालय द्वारा यहां राष्ट्रीय रंगशाला शिविर में विभिन्न प्रदेशों एवं मंत्रालयों की झांकी के कलाकारों ने पत्रकारों के समक्ष अपने-अपने राज्यों की सांस्कृतिक झलक पेश की। इसमें उत्तराखंड के 16 कलाकारों ने पांरपरिक वेशभूषा में सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया। इस बार 12 राज्यों की झांकी को 26 जनवरी की परेड में शामिल किया जा रहा है। उत्तराखंड सूचना विभाग के संयुक्त निदेशक एवं झांकी मामलों के नोडल अधिकारी केएस चौहान ने बताया कि उत्तराखंड के 16 कलाकार परेड में शामिल होंगे। उनका कहना था कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ पर उत्तराखंड की ओर से प्रदर्शित की जाने वाली झांकी का विषय ‘‘देवभूमि उत्तराखंड” रखा गया है। उन्होंने बताया कि झांकी के अग्र भाग में सिखों के पवित्र स्थल हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा दिखाया गया है, जो प्राचीन हेमकुंड झील के तट पर 4,329 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

वहीं मध्य भाग में टिहरी बांध की झील पर बने 440 मीटर लंबे डोबरा चांठी सस्पेंशन ब्रिज को दिखाया गया है, जो टिहरी गढ़वाल जिला मुख्यालय और प्रताप नगर क्षेत्र को जोड़ता है। टिहरी बांध देश का सबसे ऊंचा और दुनिया का चौथा सबसे ऊंचा बांध है। झांकी के अंतिम भाग में बद्रीनाथ मंदिर को तथा झांकी के किनारे वाले हिस्से में 12 हजार करोड़ की चारधाम ऑल वेदर रोड़ को दिखाया गया है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.