Logo
ब्रेकिंग
आयुष्मान खुराना का नाम मुंबई की बजाय पंजाब टीम में है शामिल फैजल खान ने डांस-एक्टिंग से बदली घरवालों की किस्मत अब रॉकी भाई 'रावण' के किरदार में नजर आएंगे, फिल्ममेकर ने अगली मूवी के लिए किया अप्रोच भूकंप से कांप गई पाकिस्तान की धरती  शिवराज ने कांग्रेस का वचन पत्र दिखाकर पूछा सवाल मप्र में बनाए जाएंगे 15 गोवंश वन्य विहार वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बड़ा ऐलान- अब 7 लाख तक की इनकम वालों को नहीं देना होगा कोई टैक्स मुआवजा लेकर भाजपा कार्यालय के 44 दुकानदारों ने खाली की दुकानें उज्जैन में खेलो इंडिया यूथ गेम्स में योग प्रतियोगिता शुरू अमृतकाल के दौरान प्रौद्योगिकी-चालित और ज्ञान-आधारित तंत्र के माध्यम से सुधारों पर बहु-क्षेत्रीय ध्या...

सावधान! देश का सबसे प्रदूषित शहर बना पटना.. और खराब हुई हवा, 426 तक पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स लेवल

पटना: राजधानी पटना की हवा जहरीली हो गई है और वह भी इतनी कि खुली हवा में सांस लेना मुश्किल हो रहा है. ठंड बढ़ने के साथ ही वायु प्रदूषण बढ़ने लगा था. उम्मीद की जा रही थी कि कोहरा कम होने और धूप खिलने के बाद वायु प्रदूषण में भी सुधार होगा. लेकिन ऐसा नहीं होने से लोगों की चिंता बढ़ गई है. शनिवार को हल्की धूप के बावजूद पटना का एयर क्वालिटी इंडेक्स 426 तक जा पहुंचा है. इसके साथ ही देश के सबसे वायु प्रदूषित शहरों में पहले पायदान पर पटना पहुंच गया है.पटना का वायु पूरी तरह से प्रदूषित हो चुका है जिस तरह के हालात है यह देखकर कहा जा सकता है कि ठंड घटने के बावजूद भी पटना में वायु प्रदूषण का स्तर और खराब भी होता चला जा रहा है फिलहाल राजधानी पटना देश में सबसे ज्यादा वायु प्रदूषित शहर बन चुका है और आज एयर क्वालिटी इंडेक्स 426 तक जा पहुंचा है. इसके साथ ही लोगों का सांस लेना भी दूभर होता जा रहा है. लोग सांस के जरिए अपने अंदर जहर खींच रहे हैं. अगर जल्द से जल्द इस दिशा में ठोस कदम नहीं उठाए गए तो लोग कई तरह की बीमारियों की चपेट में भी आ सकते हैं.बता दें कि बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड लगातार वायु प्रदूषण पर नियंत्रण करने की बात करती है. लेकिन प्रदूषण को लेकर जो हालात राजधानी पटना में दिख रहे हैं, वो लोगों को परेशान कर सकते हैं. दरअसल बीते दिसंबर महीने में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक देश के सर्वाधिक वायु प्रदूषित 21 शहरों में 13 शहर बिहार से थे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.