Logo
ब्रेकिंग
573 मीटर ऊंची पहाड़ी पर रोकी पेड़ों की कटाई, अब इस पहाड़ी पर हरे-भरे हैं डेढ़ लाख से ज्यादा पेड़ नाराज मुख्यमंत्री की लगातार 6 पोस्ट, ईडी-आईटी वाले अफसरों को मुर्गा बनाकर पीट रहे हैं, अब शिकायत मिल... रिफ्लेक्टर जैकेट, एल्कोमीटर होने के बाद भी रात में ट्रैफिक पुलिस सड़कों से हो जाती है गायब दिन का तापमान जहां 28 डिग्री, न्यूनतम 8.1 डिग्री पर पहुंचा, सर्द उत्तरी हवाओं से दिन में भी बढ़ी ठिठु... अलीगढ़ में जिला बॉडी बिल्डिंग एसोसिएशन ने कराई प्रतियोगिता, प्रदेश के 200 से ज्यादा युवा हुए शामिल मध्यप्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों से गुजर रही यात्रा, भिलाई नगर विधायक निभा रहे अहम भूमिका 14.5 करोड़ की हेरोइन बरामद, आरोपियों से 20 हजार ड्रग मनी और 2 स्कूटर भी मिले  भारत जोड़ो यात्रा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगने पर कांग्रेस नेताओं पर केस दर्ज  ट्रक से टकराए बाइक सवार बुजुर्ग; सिंगोडी बाइपास पर युवक की भी मौत स्टूडेंट्स के उज्ज्वल भविष्य के लिए लिंग्याज की टीम करियर काउंसलिंग कर दिखा रही राह

डेयरी मूल्य श्रृंखला परियोजना के तहत कौशिकी महिला दूध उत्पादन कंपनी स्थापित की गई

बिहार ग्रामीण जीविकोपार्जन प्रोत्साहन समिति (जीविका)द्वारा 2017 में एनडीडीबी डेयरी सेवाओं के सहयोग से एनआरएलएम द्वारा वित्त पोषित डेयरी मूल्य श्रृंखला परियोजना के तहत कौशिकी महिला दुग्ध उत्पादक कंपनी स्थापित की गयी । कंपनी ने 2018 में सहरसा, सुपौल और मधेपुरा में अपना कार्य प्रारम्भ किया ।
2018-19 में 11 सदस्यों एवं 11,000रुपये की शेयर पूंजी से शुरुआत कर जीविका दीदियों के सहयोग से वर्त्मन में कंपनी में 37,000सदस्य एवं 2.6 करोड़ की शेयर पूंजी हो चुकी है ।
2018-19 में औसत दूध खरीद 1800 किलोग्राम प्रति दिन थी, जो वर्ष 2022-23 में बढ़कर औसतन खरीद 56,000 किलोग्राम प्रति दिन तक पहुंच गई है। कंपनी ने 2022-23के बचे हुए शेष महीनों में लगभग 70,000 किलोग्राम प्रति दिन के औसत के साथ 1.25 लाख किलोग्राम की अधिकतम दूध की खरीद की मात्रा तक पहुंचने की योजना बनाई है।
कौशिकी, जो अपनी पूरी आमदनी का लगभग 85%उत्त्पादक मूल्य के रूप में सदस्यों को वापस कर रही है। राजस्व जो 2018-19 में 1 करोड़ था, 2022-23 में उल्लेखनीय वृद्धि के साथ लगभग 125 करोड़ होने का अनुमान है। अब तक, कौशिकी ने उत्पादक को भुगतान के रूप में ग्रामीण अर्थव्यवस्था में लगभग 60 करोड़ का योगदान दिया है।
22.11.2022 को, कंपनी ने अपना पहला डेयरी उत्पाद लॉन्च करके एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया, जो ब्रांड नाम कौशिकी दही है। यह उत्पाद जो सहरसा, सुपौल और मधेपुरा के बाजार में 5 किलो और 15 किलो के बल्क पैक के रूप में उपलब्ध होगा ।
इस अवसर पर मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी, जीविका द्वारा कहा गया कि यह एक ऐतिहासिक दिन है क्योंकि जीविका की दीदियो द्वारा दही उत्पाद का लोकार्पण किया गया है, अभी यह दही बाजार में 5 किलो और 15 किलो के बल्क पैक के रूप में उपलब्ध होगा ।किन्तु भविष्य मेंअतिशीघ्र छोटे- छोटे पैक्ट्स में भी उपभोक्ताओं के उपभोग लिए बाजार में उपलब्ध होगा lइसी क्रम में मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी, जीविका द्वारा कहा गया कि भविष्य में जीविका दीदियों द्वारा दुग्ध से सम्बन्धित अन्य उत्पाद जैसे , खोया एवं घी का भी निर्माण बाजार में विक्रय हेतु किया जाएगा I
इस उत्पाद का लोकार्पण श्री राहुल कुमार, आईएएस, मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी, बिहार ग्रामीण जीविकोपार्जन प्रोत्साहन समिति (जीविका)के द्वाराकिया गया । इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में श्री श्रीराम सिंह, उप निदेशक, एनडीडीबी डेयरी सर्विसेज, नई दिल्ली, केएमएमपीसी के निदेशक मंडल, संदीप यादव, विशेष कार्य पदाधिकारी -जीविका श्री राजेश कुमार,निदेशक- जीविकाश्री रामनिरंजन सिह,डॉ० राकेश कुमार सिंह, राज्य परियोजना प्रबंधक-लाइवस्टॉक, सुमित कपूर-पीएमलाइवस्टॉक, डॉ० अजय कुमार, तथा पशुधन प्रभाग के अन्य कर्मी तथा केएमएमपीसी के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.