Logo
ब्रेकिंग
कर्तव्य पथ पर पहली बार मार्च पास्ट करेगी मिस्र सेना की टुकड़ी, परेड में दिखेगा बहुत कुछ नया भारतीय शेयर बाजार विदेशी निवशकों को लगा महंगा रिपब्लिक डे पर एयर इंडिया ने फ्लाइट्स टिकट पर दिया ऑफर छिंदवाड़ा में हिंदूवादी संगठनों ने पठान फिल्म के पोस्टर फाड़े कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय के बयान पर रविशंकर प्रसाद का फूटा गुस्सा मध्य प्रदेश के राज्यपाल भोपाल में और सीएम शिवराज जबलपुर में करेंगे ध्वजारोहण आप-भाजपा पार्षदों के हंगामे के बीच फिर टला मेयर चुनाव, सदन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित मुंबई: देशभक्ति से भरपूर फिल्म है 'पठान' फर्स्ट शो के बाद 300 शो बढ़ाए गए, अब तक की सबसे बड़ी रिलीज ... इंदौर में हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं पर FIR, पठान मूवी के विरोध में मुस्लिम संगठनों पर आपत्तिजनक ना... अब छिंदवाड़ा में पठान का विरोध, राष्ट्रीय हिंदू सेना ने किया पुतला दहन..जमकर की नारेबाजी

कांग्रेस की जनता से अपील, महंगाई नियंत्रित करने के लिए भाजपा को हराएं

नई दिल्लीः कांग्रेस ने जूते-चप्पल से लेकर खाद्यान्न सामग्री तक विभिन्न श्रेणियों में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) बढ़ाने के लिए केन्द्र की नरेंद्र मोदी सरकार की शनिवार को आलोचना की और मंहगाई को नियंत्रित करने के लिए आने वाले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को हराने की जनता से अपील की।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि केन्द्र ने हिमाचल प्रदेश और कुछ अन्य राज्यों में उपचुनाव में भाजपा की हार के बाद पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क घटा दिया था। उन्होंने जनता से विवेकपूर्ण ढंग से मतदान करके कर को कम करने वाला शासन लाने की अपील की।

सुरजेवाला ने टेक्सटाइल पर जीएसटी को पांच प्रतिशत से बढ़ाकर 12 प्रतिशत करने के जीएसटी परिषद के फैसले के टलने का श्रेय कांग्रेस को दिया और दावा किया कि पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने के बाद कर बढ़ा दिए जाएंगे। उन्होंने कहा,‘‘किसी को भी यह भूलना नहीं चाहिए कि टेक्सटाइल पर जीएसटी बढ़ाने के प्रस्ताव को वापस नहीं लिया गया है,केवल टाला गया है। इस निर्णय पर कुछ महीने के लिए रोक लग सकती है,जब तक चुनाव नहीं हो जाए। एक बार चुनाव हो जाएं,फिर कर बढ़ाएं जाएंगे।”

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि कर बढ़ने के कारण एक जनवरी से जूते चप्पल,टैक्सी,ऑटो रिक्शा से यात्रा, यात्रा संबंधी ऐप का इस्तेमाल,खाना मंगवाने वाले ऐप के जरिए खाना मंगवाना,बच्चे का रंग करने (ड्रॉइंग) का सामान और एटीएम मशीन से पैसे निकालना मंहगा हो गया है। सुरजेवाला ने कहा कि 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद से चाय, दालें, खाद्य तेल, रसोई गैस और यहां तक कि नमक की कीमतें बढ़ी हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.