Logo
ब्रेकिंग
शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता मुख्यमंत्री ने ललित भवन में स्व० ललित नारायण मिश्र जी की प्रतिमा का किया अनावरण मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव मुख्यमंत्री ने लोहिया पथ चक्र के निर्माण कार्य की प्रगति का किया निरीक्षण आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार... ठोस क्रियान्वयन के लिए निरंतर सत्यापन किया जाए : राज्यपाल पटेल मध्य प्रदेश में कलेक्टर-कमिश्नर कान्फ्रेंस शुरू, सीएम शिवराज कर रहे अधिकारियों से बात

पंजाब में पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक के सवाल पर राकेश टिकैट ने दिया ये जवाब

नई दिल्ली / नोएडा। पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक पर प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय किसान यूनियन (टिकैट) के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि केंद्र सरकार का कहना है कि सुरक्षा में चूक हुई और पंजाब सरकार का कहना है कि प्रधानमंत्री वहां नहीं गए क्योंकि उनकी रैली में कुर्सियां ​​खाली थीं। दोनों केवल अपना बचाव करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब पीएम मोदी पंजाब आ रहे थे तो उनकी सुरक्षा को लेकर क्या इंतजाम किए गए थे?

भाकियू नेता राकेश टिकैट ने कहा कि इसकी जांच होनी चाहिए क्या पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में कोई चूक हुई। अगर सुरक्षा में चूक हुई तो क्या अचानक उनके रूट में बदलाव की वजह से हुई या फिर किसानों के विरोध प्रदर्शन की वजह से ऐसा हुआ।उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग कह रहे हैं कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के कारण रैली रद्द की गई, वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री दावा कर रहे हैं कि रैली में खाली कुर्सियों के कारण पीएम वापस लौटे।

बता दें कि पीएम मोदी बुधवार को एक जनसभा में शामिल होने के लिए पंजाब गए थे। उनका विमान बठिंडा में उतरा था। खराब मौसम के कारण फिरोजपुर के हुसैनीवाला के लिए पीएम मोदी का काफिला सड़क मार्ग से जा रहा था। कुछ प्रदर्शनकारियों द्वारा नाकेबंदी के कारण वह 15-20 मिनट के लिए फ्लाईओवर पर फंस गए थे। इस घटना को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उनकी सुरक्षा में बड़ी चूक बताया।

इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने दावा किया कि पीएम मोदी की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई। चन्नी ने दावा कि कि भाजपा की फिरोजपुर रैली में 70 हजार कुर्सियां लगाई गई थीं, लेकिन वहां केवल 700 लोग ही पहुंच सके। वहीं भाजपा ने पंजाब के सीएम के इस बयान पर एतराज जताते हुए उनका इस्तीफा तक मांग लिया।

मिली जानकारी के अनुसार, पंजाब के कुछ किसान संगठन अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। किसान संगठनों ने पहले ही पीएम मोदी की रैली का बहिष्कार का एलान किया था।ये किसान संगठन दिल्ली में कृषि कानूनों के विरोध में धरना भी दे चुके हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.