Logo
ब्रेकिंग
चीकू की खेती से होगी 5 लाख रुपये तक की कमाई केजरीवाल ने कांग्रेस को हराने के लिए शराब घोटाला किया : अजय माकन बीएमसी बजट 2023-24 - मुंबई के इन पांच जगहो पर लगेंगे एयर प्यूरीफायर ! उद्योग में तकनीकी उन्नयन के लिए एनर्जी बॉन्ड जारी करने पर विचार कर रहा पाकिस्तान मा0 अध्यक्ष जिला पंचायत ने महामाया राजकीय महाविद्यालय भिट्टी में ’’वार्षिक क्रीडा प्रतियोगिता’’ का क... भोपाल-इंदौर में लोकसभा चुनाव से पहले दौड़ेगी भोपाल मेट्रो  छावला गैंगरेप मामले में बरी हुआ शख्स और उसका दोस्त हत्या के आरोप में गिरफ्तार व्यक्ति को जमीन पर गिराकर मारने का VIDEO....दो दिन पूर्व का बताया जा रहा, शराब के नशे में था पीड़ित जल्द शुरू होने वाला है दीघा रेलवे स्टेशन, सेंट्रल रेलवे ने पूरी की तैयारी हिंदुओं के हाथ से अगरबत्ती छुड़ाकर मोमबत्ती थमाने के चल रहे प्रयास

कांकेर में नक्सली बनकर डकैती की कोशिश, 3 आरोपियों को ग्रामीणों ने पकड़ा, 2 फरार

कांकेर। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में नक्सली बनकर घर मे डकैती करने के लिए घुसे तीन फर्जी नक्सलियों को ग्रामीणों ने धर दबोचा और पुलिस के हवाले कर दिया है। वहीं दो आरोपित भाग निकलने में कामयाब हो गए। पकड़े गए आरोपितों से ग्रामीणों ने पूछताछ की तो मामला स्पष्ट हुआ कि नक्सली नहीं अपराधी हैं।

कोडेकुर्से थानाक्षेत्र के गुरदाटोला में रविवार-सोमवार की दरमियानी रात करीब 2 बजे ग्रामीण चमरुराम के घर मे 5 लोग जबरन घुस गए और खुद को नक्सली बताकर पैसे की मांग करने लगे। फर्जी नक्सलियों ने अपने साथ कुछ हथियार भी रखे थे, लेकिन उनकी गतिविधियों को देखकर चमरुराम के परिवार को शक हुआ और उन्होंने हिम्मत करके फर्जी नक्सलियों का विरोध किया। जिसके बाद शोरगुल सुनकर आसपास के लोग भी इकट्ठा हो गए, खुद को फंसता देख फर्जी नक्सलियों ने भागने की कोशिश की, जिनमे से तीन आरोपितो को ग्रामीणों ने पकड़ लिया, जबकि 2 आरोपित भागने में कामयाब हो गए।

पकड़े गए आरोपियों की ग्रामीणों ने पिटाई भी कर दी। जिससे उन्हें चोट भी आई है। जिले में नक्सलियों के नाम पर लूट या दहशत फैलाने का यह पहला मामला नही है, इसके पहले भी फर्जी नक्सली बनकर इस तरह की वारदात को अंजाम दिया जा चुका है। गौरतलब है कि नरहरपुर क्षेत्र के अंदरूनी क्षेत्रों में नक्सली घटनाएं होती रहती है। सड़क निर्माण के दौरान वाहनों में आग लगाने से लेकर काम कराने वाले ठेकादारों के अपहरण की घटनाएं हो चुकी हैं। हालांकि फोर्स के कैंप स्थापित होने से नक्सली घटनाओं में कुछ कमी आई है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.