Logo
ब्रेकिंग
शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता मुख्यमंत्री ने ललित भवन में स्व० ललित नारायण मिश्र जी की प्रतिमा का किया अनावरण मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव मुख्यमंत्री ने लोहिया पथ चक्र के निर्माण कार्य की प्रगति का किया निरीक्षण आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार... ठोस क्रियान्वयन के लिए निरंतर सत्यापन किया जाए : राज्यपाल पटेल मध्य प्रदेश में कलेक्टर-कमिश्नर कान्फ्रेंस शुरू, सीएम शिवराज कर रहे अधिकारियों से बात

ठगी का लेटेस्ट तरीका: डाक से लेटर भेजकर फंसाने का दिया लालच, समय रहते राज से उठा पर्दा

बलौदाबाजार: ठगी करने वाला गिरोह अलग-अलग तरीकों से फ्रॉड की घटनाओं को अंजाम देता है. यह तो आप सभी ने सुना होगा. लेकिन इस बार ठगों का किस्सा दिलचस्प है. जिसे जानकर हर कोई हैरान रह जाएगा. इस बार ठगों ने अपने शिकार को फंसाने के लिए एक अलग ही रास्ता चुना. बदमाशों ने डाक के माध्यम से लेटर भेजकर ठगी करने का प्रयास किया लेकिन वो सफल नहीं पाए. बलौदाबाजार के कसडोल से एक ऐसा ही मामला सामने आया है. शिकायतकर्ता संतोष साहू ने बताया कि शुद्धि आयुर्वेदा नामक संस्थान से एक दो बार कुछ आयुर्वेदिक दवाइयां मंगाई थी. फ्रॉड गैंग ने इसी कंपनी का फर्जी पत्र और इनाम कूपन बनाकर पोस्ट के माध्यम से शिकायतकर्ता के पास भेजा ताकि पीड़ित को ठगा जा सके. शिकायतकर्ता ने जैसी ही कूपन में स्क्रेच किया तो उसे आठ लाख चालीस हजार रुपये नकद या फिर कार लकी ड्रा में निकलने की बात कही. लेकिन शिकायतकर्ता समय रहते संभल गया और मामले की जानकारी पंजाब केसरी संवाददाता को दी. वहीं संवाददाता ने फ्रॉड गैंग की जानकारी पुलिस को दी.

इस मामले पर एसएसपी दीपक कुमार झा ने त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. साथ ही एसएसपी ने सभी लोगों को आगाह किया है कि अगर इस प्रकार की कोई संदेहास्पद चीजें किसी के साथ होती है तो वह जल्दबाजी में कोई गलत कदम नहीं उठाएं. बल्कि मामले की जानकारी पुलिस को दे.

ऐसे रहे ठगी से सावधान

सबसे पहले अगर आप किसी संस्थान से ऑनलाइन खरीदी करते हैं तो अपनी व्यक्तिगत जानकारी को निजी रखे. इसी समय दिए गए आपके संदर्भ में जानकारी को फ्राडिंग गैंग कलेक्ट कर आपके पते पर एक लिफाफा पोस्ट कार्ड के माध्यम से भेजते हैं. इसमें चौकाने वाली बात यह है कि यह लिफाफा बिल्कुल प्रोफेशन लगता है. इसमें बकायदा स्टिकर भी लगा होता है. इसी के अंदर संस्थान से सम्बंधित कुछ जानकारी होती है जिसको फ्रॉड गैंग आपका विश्वास जीतने के लिए ऐसे लैटर तैयार करत रहते हैं. जिसको पढ़कर आप फ्राडिंग के शिकार हो सकते हैं. इसी लिफाफे के अंदर एक इनाम वाला कूपन होता है. जिसे स्क्रेच करने पर आपको कुछ चीजें मिलती है.

कूपन में आठ लाख चालीस हजार रुपये नकद या फिर कार निकलाने का लालच देते हैं. जब इसकी पड़ताल के लिए दिए नम्बरों पर सम्पर्क किया तो उनके द्वारा गाड़ी के रजिस्ट्रेशन के नाम पर बारह हजार पांच सौ रुपये की राशि या फिर नकद पैसे लेने के लिए जीते इनाम का 1% फोन पेय या गूगल पेय करने की बात कही. जब पंजाब केसरी संवादतता ने उक्त नम्बर पर सम्पर्क कर पड़ताल की तो फ्रॉड गैंग की हवा निकल गई. अमूमन लोग बड़ा लाभ पाने के लिए यह राशि भेज देते है. क्योंकि इसका लिफाफा पोस्ट के माध्यम से आने के कारण लोगों में विश्वसनीय होने का भ्रम रहता है. वहीं मामले में जागरूकता के कारण ही शिकायतकर्ता ठगी होने से बच गया. वहीं इस मामले को गंभीरता के लेते हुए एसएसपी दीपक कुमार झा ने भी पंजाब केसरी के इस पड़ताल की तारीफ करते हुए लोगों को सतर्क रहने की हिदायद दी है.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.