Logo
ब्रेकिंग
अमित शाह कल करेंगे चुनावी राज्य कर्नाटक का दौरा अपनी छोड़ सारे जहां की चिंता कर भोपाल के विद्यार्थी ने जीता पीएम मोदी का मन दिल्ली में न्यूनतम तापमान 6.1 डिग्री सेल्सियस, वायु गुणवत्ता ‘खराब' श्रेणी में बजट से पूर्व भारत को US फार्मा उद्योग की सलाह- दवा क्षेत्र के लिए बनाए अनुसंधान एवं विकास नीति Corona Update: भारत में दम तोड़ रहा कोरोना, 24 घंटे में 100 से भी कम नए केस सड़क का खंबा नहीं होता तो अंधगति से आ रहे ट्रक थाना मोबाइल को ठोकता हुआ अंदर होता, cctv में दिखा कैसे... MP: मुरैना में बड़ा हादसा, वायुसेना का सुखोई-30 और मिराज हुए क्रैश सूरत के उधना इलाके में कार शोरूम में लगी भीषण आग रूठों को मनाने के लिए कांग्रेस चलाएगी घर वापसी अभियान ‘मूड ऑफ दि नेशन सर्वे’ में बजा CM योगी का डंका, 39.1 फीसदी लोगों ने माना बेस्ट परफॉर्मिंग चीफ मिनिस्...

इस भारतीय धुरंधर ने खेला करियर में सिर्फ 1 टी20 मैच, पारी ऐसी जिसे देख रह गए थे सभी दंग, अंग्रेजों ने किया सलाम

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम में आलराउंडर की भूमिका निभाने वाले राहुल द्रविड़ ने बतौर खिलाड़ी, विकेटकीपर और फिर कप्तान की जिम्मेदारी को बखूबी अंजाम दिया। टेस्ट और वनडे में धमाकेदार करियर बनाने वाले इस धुरंधर ने महज एक टी20 मुकाबला खेला लेकिन उनकी विदाई ऐसी थी जिसे अब तक याद किया जाता है। इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के दौरान द्रविड़ ने इस मैच में तीन लगातार गेंद पर छक्के लगाए थे और आउट होने के बाद अंग्रेज खिलाड़ी भी उनको सम्मान के साथ विदाई देते दिखाई दिए थे

भारत की तरफ से 150 से ज्यादा टेस्ट और 300 से ज्यादा वनडे मैच खेलने वाले राहुल द्रविड़ का जन्म 11 जनवरी 1973 को हुआ था। टीम इंडिया के मुख्य कोच की भूमिका निभा रहे इस धुरंधर का आज यानी मंगलवार को जन्मदिन है। क्रिकेट के दोनों फार्मेट में दम दिखाने वाले इस क्रिकेट ने भले ही एक टी20 मैच खेला लेकिन पारी ऐसी थी जिसका मजा सभी ने उठाया।

अचानक मिली टी20 टीम में जगह

वनडे और टेस्ट क्रिकेट छोड़ चुके द्रविड़ का नाम अचानक से इंग्लैंड के दौरे पर टी20 टीम में शामिल किया गया था। इस बात की घोषणा के बाद सभी हैरान थे लेकिन द्रविड़ ने चयनकर्ताओं के फैसले का सम्मान करते हुए मैच में उतरने का फैसला लिया। इस धुरंधर ने ना सिर्फ मैच खेला बल्कि ऐसी पारी खेली जिसने सबको मंत्रमुग्ध कर दिया

21 गेंद पर 31 रन की पारी के दौरान द्रविड़ ने महज तीन छक्के लगाए थे लेकिन इन तीनों ही छक्कों ने सबका दिल जीत लिया। समित पटेल के ओवर में लगातार तीन छक्के जमाते हुए द्रविड़ ने अपने पहले और आखिरी टी20 को यादगार बनाया था। 11 वें ओवर की चौथी, पांचवीं और छठी गेंद पर उन्होंने जोरदार छक्के जमाए थे।

31 रन बनाने के बाद इयोन मोर्गन के हाथों रबि वोपारा की गेंद पर कैच आउट होकर वापस लौटे थे। उनकी इस पारी के खत्म होने के बाद वापस लौटते वक्त इंग्लैंड की टीम के खिलाड़ियों ने सम्मान दिखाते हुए उनको भविष्य की शुभकामनाएं दी थी। मैदान से जाते वक्त सभी खिलाड़ियों ने उनसे हाथ मिलाया और सम्मान दिखाया।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.